मुख्यमंत्री गहलोत के कारण कांग्रेस के विधायक होटल में त्योहार मनाने को मजबूर- डॉ. पूनियां
मुख्यमंत्री गहलोत के कारण कांग्रेस के विधायक होटल में त्योहार मनाने को मजबूर- डॉ. पूनियां
राजस्थान

मुख्यमंत्री गहलोत के कारण कांग्रेस के विधायक होटल में त्योहार मनाने को मजबूर- डॉ. पूनियां

news

जयपुर, 01 अगस्त (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कोरोना प्रबन्धन में पूरी तरह विफल होने एवं विधायकों को होटल के बाड़े में बंद रखने को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधायकों को लेकर जैसलमेर भी बकरीद के दिन गए हैं और खुद ही उनको पहले बकरा मंडी बता रहे थे, तारीख भी 14 अगस्त को, जो कि पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस है, तो कई चीजों का बड़ा संयोग है जो कांग्रेस की नीति और नीयत को स्पष्ट कर रहा है। पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जीवन में शायद ऐसा अवसर नहीं आया होगा कि उनको अपनी कही हुए बातें खुद को स्वीकार करनी पड़ रही हैं, अभी वह विधायकों को इधर से उधर होटलों में घुमा रहे हैं, उनको बाड़े में कैद कर रखा है, विधायकों को त्यौहार भी होटल में ही मनाने का मजबूर किया जा रहा है, गहलोत का संविधान का उल्लंघन करने का पुराना नाता रहा है और आज वो लोकतंत्र की दुहाई देते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री गहलोत को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आपके पास संख्या होती, भरोसा होता, तो शायद यह नौबत नहीं आती कि आप विधायकों को इधर से उधर घुमाते फिरते। उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नहीं है, मानसिक रूप से तो मुख्यमंत्री असंतुलित हो ही चुके हैं, लेकिन मुझे लगता है कि संख्या के आधार पर भी भरोसा नहीं है। डॉ. पूनियां ने कहा कि अब राजस्थान की जनता यह जवाब चाहती है कि उनको सरकार ने किसके भरोसे कोरोना काल में छोड़ा है। उन्होंने विधायकों को आलीशान होटलों में रखे जाने को लेकर किये जा रहे खर्च को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री इस बात का खुलासा करें कि लग्जरी बजरी कहां से आ रही है? उन्होंने कहा कि प्रदेश में बजरी माफियाओं का तांडव बढ़ रहा है और अपराध का ग्राफ भी बढ़ रहा है, पुलिसकर्मियों पर भी हमले बढ़ रहे है, ऐसे में सरकार होटलों में मौज मस्ती करने में मस्त और व्यस्त है। आपके पास इन मुद्दों का कोई जवाब नहीं है, यह शर्मनाक है। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप-hindusthansamachar.in