Child Rights Welfare Committee met family members of rape victim
Child Rights Welfare Committee met family members of rape victim
राजस्थान

बाल अधिकार कल्याण समिति ने दुष्कर्म पीडि़ता के परिजनों से की मुलाकात

news

जोधपुर, 29 दिसम्बर (हि.स.)। शहर में 12 साल की एक दुष्कर्म पीडि़ता के मां बनने के मामले में जिला बाल अधिकार कल्याण समिति ने संज्ञान लिया है। समिति के पदाधिकारियों ने आज अस्पताल में भर्ती पीडि़ता के परिजनों से मुलाकात कर पूरी जानकारी ली और मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी को निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि उम्मेद अस्पताल में सोमवार को बावड़ी निवासी बारह वर्षीय इस बालिका ने एक पुत्र को जन्म दिया था। इस बालिका के साथ गांव का ही एक बदमाश साल भर से ज्यादती कर रहा था जिससे वह गर्भवती हो गई। उसके गर्भवती होने के घरवालों को पता तक नहीं चल पाया। मासूम के पेट में दर्द की शिकायत होने पर रविवार को परिजनों ने डॉक्टर को दिखाया तो पता चला कि वह गर्भवती है। इस पर वे उसे लेकर जोधपुर पहुंचे। यहां उसने सोमवार को पुत्र को जन्म दिया। इस घटना की जानकारी मिलने पर जिला बाल अधिकार कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ. धनपत गुजर और सदस्य शशि वैष्णव, विक्रम सरगरा व लक्ष्मण परिहार अस्पताल पहुंचे और पीडि़ता व उसके परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने परिजनों से पूरे मामले की जानकारी ली। साथ ही चिकित्सकों से भी बातचीत की। उन्होंने चिकित्सकों को पीडि़ता और बच्चे की सेहत को लेकर निर्देश दिए। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर-hindusthansamachar.in