विभागीय विकास कार्यों को तीव्र गति देने के करें विशेष प्रयास- मुख्य सचिव
विभागीय विकास कार्यों को तीव्र गति देने के करें विशेष प्रयास- मुख्य सचिव
राजस्थान

विभागीय विकास कार्यों को तीव्र गति देने के करें विशेष प्रयास- मुख्य सचिव

news

जयपुर,31 जुलाई(हि.स.)। मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने अधिकारियों को अन्तर विभागीय समस्याओं का शीघ्र निस्तारण कर प्रदेश के विकास के लिए जन कल्याणकारी कार्यों को तीव्र गति देने हेतु जुट जाने का आव्हान किया है। मुख्य सचिव शुक्रवार को यहां शासन सचिवालय में राज्य स्तरीय विकास एवं समन्वय समिति की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कोरोना महामारी के चलते सभी अधिकारियों को अगले छह माह के लिए लक्ष्य लेकर योजनाएं बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी काल में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा मिड-डे मिल का जो राशन स्वीकृत किया गया था उसे बाल विकास सेवा निदेशालय, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग एवं विभिन्न जिलों के कलेक्टरों के माध्यम से जरूरतमंदो को वितरित किया गया था। उन्होंने इसमें से शेष बचे हुए राशन स्टॉक स्कूल शिक्षा विभाग को वापस दिये जाने के निर्देश प्रदान किये। उन्होंने पंचायती राज विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग एवं वित्त विभाग को विद्यालय सहायक के विषय पर संयुक्त रूप से विचार विमर्श करने के निर्देश दिए। उन्होंने शिक्षा विभाग से सम्बन्धित विभिन्न भर्तियों पर भी दिशा निर्देश प्रदान किये। मुख्य सचिव ने कहा कि अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों के लिए अंग्रेजी माध्यम में पढ़े शिक्षकों को प्राथमिकता से अवसर दिया जाए। उन्होंने तकनीकी शिक्षा में ऎसे विषयों को पढाया जाने पर बल दिया जिससे विद्यार्थियों के भविष्य की दिशा तय की जा सके। उन्होंने कहा कि नये उद्योगों में रोजगार के अवसरों को देखते हुए विद्यार्थीयों की शिक्षा को रिडिजाईन किया जाएं जिससे उन्हें रोजगार के अधिक अवसर मिल सकें। बैठक में वित्त विभाग के शासन सचिव (बजट) टी.रविकान्त, खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग के शासन सचिव हेमन्त कुमार गेरा, पंचायती राज विभाग के शासन सचिव सिद्धार्थ महाजन, महिला एवं बाल विकास विभाग के शासन सचिव डॉ. कृष्ण कान्त पाठक सहित अन्य उच्च अधिकारी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप-hindusthansamachar.in