बसपा छोड़ कांग्रेस में आए सभी छह विधायक मुख्‍यमंत्री गहलोत के साथ
बसपा छोड़ कांग्रेस में आए सभी छह विधायक मुख्‍यमंत्री गहलोत के साथ
राजस्थान

बसपा छोड़ कांग्रेस में आए सभी छह विधायक मुख्‍यमंत्री गहलोत के साथ

news

जयपुर,20 जुलाई (हि.स.)। राजस्थान मे अशोक गहलोत सरकार का पलड़ा धीरे-धीरे मजबूत होता जा रहा है। बहुजन समाज पार्टी छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुए सभी छह विधायकों ने सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पूर्ण समर्थन देने की बात कहते हुए और कांग्रेस पार्टी में पूरी आस्था और विश्वास व्यक्त किया है। उदयपुरवाटी विधायक राजेंद्र गुढा, नगर विधायक वाजिब अली, नदबई विधायक जोगिंदर अवाना, तिजारा विधायक संदीप यादव, किशनगढ़बास विधायक दीपचंद खेरिया और करोली विधायक लाखन सिंह ने सोमवार को संयुक्त पत्रकार वार्ता करते हुए कहा कि हम बिना शर्त कांग्रेस में शामिल हुए हैं और अशोक गहलोत हमारे सर्वमान्य नेता हैं। विधायक अवाना ने कहा कि सभी छह विधायकों ने सोच-समझकर निर्णय लिया है। 11 फरवरी के दिन सदन में हमने पांच प्रतिशत आरक्षण को लेकर आवाज उठाई थी, उस समय कोई सामने नहीं आया लेकिन गहलोत ने वादा किया और उसे पूरा किया। उन्होंने गुर्जर समाज अपील करते हुए कहा कि हम सब लोगों को प्रदेश-देश, समाज के हित में गंभीरता से सोचने की आवश्यकता है। जिन लोगोंं ने 72 गुर्जरों को मारने का काम किया है। आज समाज के कुछ लोग उनकी गोद में जाकर बैठ गए है। विधायक लाखन मीना ने कहा कि ये पहली बार हुआ कि प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ही अपनी पार्टी को डुबोने का काम करें। यह राजस्थान की जनता के साथ धोखा है। विधायक दीपचंद खेरिया ने कहा कि वे तो शुरु से ही कांग्रेस के साथ थे। कांग्रेस सभी धर्म, जातियों की पार्टी है और आम जनता का विश्वास कांग्रेस के साथ है। उन्होंने कहा कि खेरिया का कोई खरीदार पैदा नहीं हुआ है। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप / ईश्वर-hindusthansamachar.in