blake-fungus-spread-legs-in-banswara
blake-fungus-spread-legs-in-banswara
राजस्थान

बांसवाड़ा में भी ब्लेक फंगस ने पैर पसारे

news

बांसवाड़ा, 22 मई (हि.स.)। जिले में ब्लैक फंगस का संक्रमण पैर पसारने लगा है। बांसवाड़ा के पृथ्वीगंज इलाके की एक महिला के ब्लैक फंगस होने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि परतापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दो नए संधिग्ध सामने आए हैं। इनमें एक को उदयपुर और दूसरे को अहमदाबाद स्थित हायर सेंटर के लिए रैफर किया गया है। खास बात यह है कि तीनों ही मरीज पोस्ट कोविड के हैं अर्थात तीनों को इससे पहले कोरोना हो चुका है। बढ़ती हुई बीमारी को लेकर जिले का चिकित्सा विभाग अब तक अनभिज्ञ बना हुआ था। दो संदिग्धों की सूचना तो विभाग को मिल गई है, लेकिन शहर में मिले रोगी को लेकर अब तक भी विभाग के जिम्मेदार बेखबर हैं। गौरतलब है कि ब्लैक फंगस की पुष्टि वाली महिला कई दिनों पूर्व यहां महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय में आई थी, जिसे नाक, कान, गला विशेषज्ञ डॉ. सर्वेश विसारिया ने संदिग्ध मानते हुए सिटी स्केन की सलाह दी थी। बाद में यह महिला उपचार के लिए बड़ौदा चली गई। लैब की रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। शहर के पृथ्वीगंज इलाके से सलीम जान नाम की महिला पहली संदिग्ध रोगी के तौर पर सामने आई। रतलाम रेाड स्थित एक लैब की रिपोर्ट से महिला के ब्लैक फंगस होने की पुष्टि हुई। इस बीच परिजन उसे लेकर बड़ौदा अस्पताल ले गए, जहां उपचार जारी है। डॉ. विसारिया की मानें तो मरीज का शुगर लेवल 400 के करीब था, जबकि महिला मरीज शुगर को लेकर किसी तरह की दवाइयां नहीं लेती है। इस संक्रमण से पहले महिला को कोरोना हुआ था। वहीं परतापुर सीएचसी पर शुक्रवार को दो मरीज सामने आए। डॉ. विपिन बुनकर ने मोर निवासी गट्टू और ओडवाड़ा निवासी जशोदा को ब्लैक फंगस का संदिग्ध माना। इसमें गट्टू को तो उदयपुर रैफर किया गया, जबकि जशोदा के परिजनों ने उसे अहमदाबाद ले जाने की सहमति दी। डॉ. बुनकर ने खास बात बताई कि गट्टू के तो ओंठ का हिस्सा सुन्न था, जबकि जशोदा के नाम से ब्लैक पदार्थ बाहर आने की शिकायत है। डॉ. बुनकर ने ऐसे मामले में लोगों को सीधे सरकारी चिकित्सालय पहुंचने की अपील की है। बुनकर का कहना है मनमानी जगहों पर उपचार के दौरान स्टेरॉयड का अधिक उपयोग होता है। ऐसे में बीमारी और गंभीर हो जाती है। दो संदिग्ध सामने आए सीएमएचओ डॉ. हीरालाल ताबियार ने कहा कि परतापुर सीएचसी पर ब्लैक फंगस से जुड़े दो मरीजों को संदिग्ध माना गया है। इसकी सूचना वहां के चिकित्सक से मिली है। दोनों की रोगियों को अगली जांच के लिए हायर सेंटर पर रैफर किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ सुभाष/ ईश्वर