BJP's black agricultural law, injury to farmers' souls: Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati
BJP's black agricultural law, injury to farmers' souls: Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati
राजस्थान

भाजपा के काले कृषि कानून, किसानों की आत्मा पर चोट : उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी

news

बीकानेर, 29 दिसम्बर (हि.स.)। राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने केन्द्र सरकार के नये कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताया। वे मंगलवार को प्रदेश कोलायत विधानसभा क्षेत्र के 'किसान संवाद कार्यक्रम' में बोल रहे थे। उच्च शिक्षा मंत्री किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने बड़ी आशा से प्रधानमंत्री मोदी के खोखले वादों पर भरोसा करते हुए उन्हें बहुमत से जिताया लेकिन मोदी के वादे विदेशों से काला धन लाकर हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख डालेगे, बेरोजगारों को प्रतिवर्ष 2 करोड रोजगार देंगे, किसानो की आय दुगनी कर देंगे में से कोई वादा पूरा न कर किसानों के शोषण के लिए किसानों की जमीन व फसल कुछ औद्योगिक घरानों को गिरवी रखने की तैयारी कर ली जो काम अंग्रेजो ने नहीं किया, भाजपा ने किसानों का वैसा शोषण करने की तैयारी कर ली है। मंत्री भाटी ने कहा किसान अपनी जमीन व फसल को अपने खून पसीने से सींच कर अपनी औलाद के समान पालता है, जो उसके जीने का सहारा बनती है, किन्तु केन्द्र सरकार के इन तीनों कृषि कानूनों के लागू होने से किसान के पास न जमीन बचेगी, न फसल वह कृषि कम्पनियों व औद्योगिक घरानों के आगे बेबस हो जायेगा और उसे जैसा कम्पनी चाहेगी वैसा करने को मजबूर होना ही पड़ेगा। कम्पनी जो चाहेगी वह फसल बोनी पड़ेगी, कम्पनी बीज व फसल की क्वालिटी निर्धारित करेगी और कम्पनी ही कीमत तय करेगी। इस प्रकार इन काले कानून में फंस कर किसान बंधुआ मजूदर बन जायेगा, कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ यह अन्याय नहीं होने देगी, गांव-गांव और ढाणी-ढाणी से कांग्रेस कार्यकत्र्ता किसानों के साथ मिलकर इस काले कानून का विरोध करेंगे और किसान विरोधी भाजपा सरकार को यह तीनों काले कृषि कानून वापस लेने के लिये मजबूर करेगी। मंत्री भंवर सिंह भाटी ने अपने सम्बोधन में कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों के हित में लिये गये अनेक निर्णयों के बारे में भी बताया जिसमें किसानों की ऋण माफी, नये न्यूनतम समर्थन क्रय केन्द्र एवं मण्डियों के विकास कार्य, बीज एवं खाद वितरण आदि के साथ.साथ उन्होंने वर्तमान सरकार द्वारा दो वर्ष के शासन की अल्प अवधि में कोलायत विधानसभा क्षेत्र के करवाये गये विकास कार्यो की जानकारी भी दी। कृषि कानूनों विरोधी किसान हस्ताक्षर अभियान के बीकानेर जिला प्रभारी फूलसिंह ओला ने भी किसानों को सम्बोधित करते हुये कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताया एवं परम्परागत कृषि को नष्ट करने वाला बताया तथा इसे औद्योगिक घरानों के हित में बताते हुये इसे अविलम्ब वापस लिये जाने की मांग की। किसान संवाद कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में किसानों के साथ.साथ कांग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे। इसमें कोलायत प्रधान प्रतिनिधि झंवर लाल सेठिया, ब्लॉक अध्यक्ष रूपाराम मेघवाल, मोहनदान जिला परिषद सदस्य, शिवलाल मेघवाल सरपंच प्रतिनिधि नोखड़ा, प्रभूराम अक्कासर, जयराम एवं अनेक नवनिर्वाचित सरपंच, जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य शामिल है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/ ईश्वर-hindusthansamachar.in