bjp-state-president-shouts-at-sanwaliya-seth-traders-shouted-slogans-demanding-opening-of-gates
bjp-state-president-shouts-at-sanwaliya-seth-traders-shouted-slogans-demanding-opening-of-gates
राजस्थान

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने किए सांवलिया सेठ के दर्शन, व्यापारियों ने गेट खोलने की मांग पर की नारेबाजी

news

चित्तौड़गढ़, 07 मार्च (हि.स.)। जिले के कृष्ण धाम श्री सांवलियाजी में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के सामने व्यापारियों ने जमकर नारेबाजी करते हुए श्री सांवलिया जी मंदिर का गेट खोलने की मांग की है। व्यापारियों ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया को मंदिर मंडल में भाजपा का बोर्ड होने का हवाला दिया और ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि भाजपा चाहे तो आज ही गेट खुलवा सकती है। वहीं, व्यापारियों ने अपना दर्द बयां करते हुए प्रदेशाध्यक्ष को बताया कि गेट बंद होने से व्यापार पूरी तरह से ठप्प हो चुका है। इस दौरान मौजूद कपासन विधायक अर्जुनलाल जीनगर ने आवश्यक कदम उठाने की बात कही है। जानकारी के अनुसार प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया शनिवार रात को श्री सांवलियाजी मंदिर दर्शन करने पहुंचे। इसकी जानकारी मिलने के बाद बड़ी संख्या में व्यापारी भी मंदिर परिसर में एकत्रित हो गए। मंदिर में दर्शन कर बाहर निकलते समय मंदिर कार्यालय के निकट स्थित गेट पर व्यापारियों ने नारेबाजी की। इस दौरान व्यापारियों ने मंदिर के गेट खोलने की मांग की और व्यापारी एकता जिंदाबाद के नारे लगाए। बाद में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष गेट के यहां पहुंचे तो व्यापार मंडल के अध्यक्ष कैलाश चंद्र डाड के नेतृत्व में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपा और अपनी पीड़ा बताई। व्यापार संघ के अध्यक्ष कैलाशचंद्र डाड ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को अवगत कराया कि वहीं श्री सांवलिया जी मंदिर मंडल में अभी भाजपा का बोर्ड है और भाजपा का बोर्ड चाहे तो कुछ ही अवधि में मंदिर के गेट खोल सकते हैं। किसी भी निर्णय में मंदिर मंडल बोर्ड का निर्णय सर्वोपरि है। ऐसे में उन्होंने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष से गेट खोलने के लिए आग्रह किया। इस दौरान चित्तौड़गढ़ विधायक चंद्रभानसिंह आक्या भी कुछ समझाईश करते दिखे। इस मामले में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने क्षेत्रीय विधायक अर्जुनलाल जीनगर से दखलअंदाजी करने का आग्रह करते हुए व्यापारियों की मांग पर उचित निर्णय कराने को कहा। इसके बाद भाजपा प्रदेशाध्यक्ष आगे के लिए रवाना हो गए। इधर, जानकारी में सामने आया है कि मंदिर के गेट बंद होने के बाद से ही सभी वर्ग के लोग परेशान हैं। वहीं, शनिवार रात को हुई नारेबाजी में शामिल अधिकांश व्यापारी भाजपा से जुड़े हुए थे। इनमें किसी के पास बड़ा पद तो नहीं है लेकिन भाजपा से जुड़े हुवे हैं। इन्होंने नारेबाजी कर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष से गेट खुलवाने का आग्रह किया। हिंदुस्तान समाचार/अखिल/ ईश्वर