बांसवाड़ा की खाद्य जांच रिपोर्ट अब पूरे विश्व में होगी मान्य

बांसवाड़ा की खाद्य जांच रिपोर्ट अब पूरे विश्व में होगी मान्य
banswara39s-food-screening-report-will-now-be-valid-all-over-the-world

बांसवाड़ा, 29 अप्रैल (हि.स.)। जनजाति जिले बांसवाड़ा में खाद्य पदार्थों की हो रही जांच की रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय बाढ़ स्तर पर मान्य होगी। जिले की जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला को नेशनल एक्रिडिटेशन बोर्ड फाॅर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटिज यानि एनएबीएल की ओर से प्रमाण पत्र प्राप्त हो गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ एचएल ताबियार ने बताया कि एनएबीएल से प्रमाणित होने के बाद अब जिले की इस लैब में हो रहे खाद्य पदार्थों की जांच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्य होगी। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के दौरान संदिग्ध खाद्य पदार्थों की टेस्टिंग बांसवाड़ा में जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला के माध्यम से की जाती है। जहां डूंगरपुर व प्रतापगढ़ के सैंपल भी जांचे जाते है। खाद्य विश्लेषक आशीष राठौड़ ने बताया कि प्रयोगशाला संबंधित इंटरनेशनल स्टैंडर्ड आर्गेनाइजेशन के सभी मानकों को पूर्ण होने की जांच के बाद ही प्रमाण पत्र दिया जाता है। बांसवाड़ा में एनएबीएल की टीम ने लैब के सभी मानकों को बारिकी से जांचा। जिसमें खरा उतरने पर यह प्रमाण पत्र दिया गया। उन्होंने बताया कि अब इससे मिलावटखोरों पर कड़ी कार्रवाई करने में मदद मिलेगी। क्योंकि कोर्ट में कई बार लैब को ही चैलेंज कर दिया जाता है। लेकिन इस प्रमाण पत्र के बाद बांसवाड़ा लैब की रिपोर्ट एक स्टैंडर्ड पैमाने पर खरी मानी जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/सुभाष/संदीप