assembly-by-elections-will-be-different-this-time-compared-to-other-elections
assembly-by-elections-will-be-different-this-time-compared-to-other-elections
राजस्थान

अन्य चुनावों के मुकाबले इस बार अलग होंगे विधानसभा उपचुनाव

news

जयपुर, 01 मार्च (हि.स.)। प्रदेश की चार विधानसभा सीटों पर विधायकों के निधन के बाद प्रस्तावित उपचुनाव के लिए निर्वाचन विभाग ने कोरोना महामारी के प्रसार को देखते हुए नामांकन से लेकर मतदान और मतगणना तक के लिए विशेष प्रोटोकॉल और दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इस बार के उप चुनाव अन्य चुनाव के मुकाबले काफी अलग होंगे। इस बार नामांकन पत्र भरने के दौरान केवल दो व्यक्ति अभ्यर्थी के नॉमिनेशन में साथ रहेंगे तथा केवल दो वाहन ही अनुमत होंगे। वहीं डोर टू डोर अभियान के लिए भी प्रत्याशी सहित 5 आदमी ही जा सकेंगे। अधिकतम 5 वाहनों का काफिला अनुमत है। दो काफिलों के बीच 30 मिनट का अन्तराल भी सुनिश्चित करना आवश्यक है। मतगणना के दौरान भी केवल 7 टेबल प्रति मतगणना हॉल तय किया गया है। रैली, जुलूस भी जिला निर्वाचन अधिकारी अनुमत स्थानों और चिन्हित गोलों पर बैठकर ही किए जा सकेंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि निर्वाचन विभाग ने कोरोना महामारी को देखते हुए मतदान दिवस पर मतदान केंद्रों पर भीड़ को सुनियोजित करने के लिए पहली बार चारों विधानसभा क्षेत्रों में में 1000 से ज्यादा संख्या वाले मतदान केंद्रों की संख्या में करीब 45 प्रतिशत का इजाफा किया है। सभी चार विधानसभा क्षेत्रों में कुल 1074 मतदान केंद्र थे, मुख्य निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर उन्हें अब बढ़ाकर 1529 कर दिया गया है। कोरोना को देखते हुए उम्मीदवारों के लिए आने वाले स्टार प्रचारकों की सीमा को भी नियंत्रित किया गया है। जहां राष्ट्रीय या प्रादेशिक दलों की संख्या को 40 से कम कर 30 किया गया है, वहीं अन्य राजनीतिक दल 20 के मुकाबले केवल 15 स्टार प्रचारकों को प्रचार के लिए बुला सकेंगे। इसके अलावा प्रचारकों की सूची भी चुनाव की अधिघोषणा के 10 दिवस में मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सौंपनी होगी। इस उपचुनाव में कोरोना की वजह से होने वाले अतिरिक्त खर्चे को देखते हुए उम्मीदवारों की खर्च सीमा को भी 28 लाख से बढ़ाकर 30.80 लाख किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर