राजस्थान सरकार रेलवे द्वारा तैयार आइसोलेशन कोच अविलंब मंगाए- सांसद भागीरथ चौधरी

राजस्थान सरकार रेलवे द्वारा तैयार आइसोलेशन कोच अविलंब मंगाए- सांसद भागीरथ चौधरी
asked-for-isolation-coach-prepared-by-rajasthan-government-railways-without-delay---mp-bhagirath-chaudhary

अजमेर, 04 मई(हि.स.)।अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने कोरोना संक्रमण की इस जानलेवा दूसरी लहर में प्रदेशवासियों को चिकित्सा एवं संभाल की समुचित व्यवस्था के मध्यनजर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मुख्य सचिव निरंजन आर्य का रेलवे के आइसोलेशन कोचों की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए करीब 1000 बैडों वाले कोचों को राजस्थान मंगवाए जाने की आवश्यकता दर्शाई है। सांसद ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से डिमाण्ड भेजे जाने पर ही रेल मंत्रालय कोचों की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। उन्होंने अजमेर संभाग के लिए भी एक हजार बैडों वाले कोच की उपलब्धता अविलम्ब कराए जाने की अपेक्षा भी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कई स्थानों पर सरकारी एवं निजी चिकित्सालय में कोरोना संक्रमित लोगों को समुचित उपचार के लिए आवश्यक जीवन रक्षक दवाओ, ऑक्सीजन के साथ साथ अब तो बैडों की उपलब्धता भी नहीं होने के कारण पीड़ित परिवारों को राहत नहीं मिल पा रही है। सांसद चौधरी ने पत्र के माध्यम से प्रदेश के वर्तमान हालातों का उल्लेख करते हुए उन्हें अवगत कराया कि वर्तमान में संपूर्ण प्रदेश में गत 15 दिनों से कोरोना की इस दूसरी लहर ने शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने पांव पसार लिए हैं जो कि चिंता का विषय है। जिसका ज्वलंत उदाहरण अजमेर संभाग मुख्यालय पर स्थित सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान जवाहरलाल नेहरु चिकित्सालय के साथ-साथ वहा स्थित प्रमुख निजी एवं बड़े चिकित्सा संस्थानों एवं जिले के सभी उपखंड मुख्यालयों पर संचालित चिकित्सा संस्थानों में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए पर्याप्त बैडों की कमी हो गई हैं। गत 3 - 4 दिनों से सैकड़ों मरीजों को उक्त अस्पतालों में भर्ती नहीं किया जा रहा है। अजमेर स्थित जे एल एन चिकित्सालय में जिले के साथ संभाग के अन्य जिलों नागौर ,भीलवाड़ा टोंक के भी ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों की आवाजाही निरंतर होती रही है। लेकिन इस कोरोना काल में यह संभाग का बड़ा चिकित्सा संस्थान अपर्याप्त साबित रहा है जिससे आमजन के साथ-साथ पीड़ित कोरोना संक्रमित परिवार जनों में भय एवं रोष व्याप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारत सरकार के रेल मंत्रालय द्वारा राज्य सरकार की मांग पर हर रेलवे जोन मुख्यालय पर रेलवे कोचों में आइसोलेशन वार्ड तैयार कर भेजने हेतु तत्पर एवं जिम्मेदार भी है। यदि इस विषय में केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर प्रदेश के सभी आवश्यक जिला मुख्यालयों के साथ-साथ अजमेर रेलवे स्टेशन पर भी पर्याप्त जगह को दृष्टिगत रखते हुए यहां पर भी 1000 बैडो के रेलवे कोच आइसोलेशन वार्ड सुविधा सहित मंगाने के लिए आवश्यक मांग पत्र भिजवा दें तो वर्तमान में कोरोना संक्रमित मरीजों और हॉस्पिटल में हो रही बैड़ों की कमी की समस्या को कम किया जा सकता है। इसके साथ ही मरीजों की स्थिति बिगड़ने पर उन्हें तत्काल उचित स्थान पर पहुंचा कर समय पर समुचित इलाज की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा सकेगी। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/संदीप