रेलवे की ब्रॉडगेज लाइन पर सभी मानवरहित समपार फाटक समाप्त

रेलवे की ब्रॉडगेज लाइन पर सभी मानवरहित समपार फाटक समाप्त
all-unmanned-level-crossing-gates-on-railway-broad-gauge-line-terminated

-10 जून को अंतरराष्ट्रीय समपार फाटक जागरुकता दिवस पर विशेष जयपुर, 09 जून (हि.स.)। मानवरहित समपार फाटकों पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे ने ब्रॉडगेज लाइन पर सभी मानवरहित समपार फाटकों को बंद कर दिया है। वर्ष 2020-21 में 81 तथा 2019-20 में 168 समपार फाटकों को बंद किया गया है। रेलवे में अधिकतर रेल दुर्घटनाएं मानवरहित समपार फाटकों पर होती है। ये दुर्घटनाएं आमतौर पर सडक़ उपयोगकर्ताओं की लापरवाही के कारण होती रही है। सडक़ उपयोगकत्र्ताओं को जागरूक करने के लिए 10 जून को अन्तर्राष्ट्रीय समपार फाटक जागरूकता दिवस मनाया जाता है। उत्तर पश्चिम रेलवे के उपहाप्रबंधक (सामान्य) व मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार 10 जून को अन्तर्राष्ट्रीय समपार जागरूकता दिवस मनाया जा रहा है। रेलवे द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से समपार फाटकों पर पेम्पलेट का वितरण तथा पोस्टर लगाकर जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाते है। साथ ही स्काउट-गाइड एवं रेलवे द्वारा समपार फाटकों पर दुघर्टना के बारे में नुक्कड़ नाटक, पोस्टर एवं प्रस्तुतिकरण द्वारा समपार फाटकों पर संरक्षा के बारे में निरन्तर जागरूकता अभियान चलाये जाते है। उन्होंने बताया कि उत्तर पश्चिम रेलवे पर वर्ष 2020-21 में 81 रेल समपारों को समाप्त किया गया। वर्ष 2020-21 में 108 सीमित ऊंचाई के पुलों तथा 17 सडक़ ऊपरी पुलों का निर्माण किया गया। वर्ष 2019-20 में 243 सीमित ऊंचाई के पुलों तथा 21 सडक़ ऊपरी पुलों का निर्माण किया गया। उत्तर पश्चिम रेलवे में गत सात वर्षों में 456 सीमित ऊंचाई के पुलों तथा 41 सडक़ ऊपरी पुलों का निर्माण कर संरक्षा को सुदृढ़ किया गया। इस कारण समपार फाटकों पर होने वाली दुर्घटनाओं में उल्लेखनीय कमी आई है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर