बेटी के लग्न के बाद कोरोना से पिता की मौत, समाज ने की मदद

बेटी के लग्न के बाद कोरोना से पिता की मौत, समाज ने की मदद
after-daughter39s-marriage-father-dies-of-corona-society-helped

- कोटा में श्रीगौड़ ब्राह्मण समाज ने परिजनों को 81,500 रूपये की सहायता राशि सौंपी कोटा, 8 जून (हि.स.) कोरोना महामारी की दूसरी लहर में हुई अकाल मौतों से कुछ परिवारों मे शादी की खुशियां भी मातम में बदल गई। कोटा शहर में साधारण परिवार के शम्भूदयाल शर्मा अपनी बेटी किरण की शादी की अंतिम तैयारियों में जुटे हुये थे। 30 अप्रैल को वे बेटी की लग्न पत्रिका बूंदी पहुंचाकर वापस कोटा लौट रहे थे। अचानक रास्ते में ही उनकी तबीयत बिगड़ गई। उन्हें इलाज के लिये न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया। तीन दिन बाद कोरोना जांच पॉजिटिव आई्, जिससे उनका आक्सीजन लेवल लगातार कम होता चला गया। डॉक्टरों ने उन्हे ऑक्सीजन देकर बचाने का पूरा प्रयास किया लेकिन 10 मई को वे अचानक चल बसे। परिवार के मुखिया शंभूदयाल शर्मा की अचानक मौत हो जाने से घर में बेटी की शादी की खुशियां मातम में बदल गई। परिवार में पत्नी सीता बाई, पुत्र अभिषेक शर्मा (16) एवं बेटी किरण पर मुसीबतों का पहाड टूट पड़ा। पिता की अकस्मात मौत हो जाने के कारण बेटी की शादी को भी निरस्त करना पडा। उनके परिवार में कमाने वाला कोई नहीं रहा। सूचना मिलते ही श्रीगौड़ ब्राह्मण समाज ने परिवार की मदद करने की जिम्मेदारी उठाई। श्री गौड़ ब्राह्मण समाज के उपाध्यक्ष नरेश शर्मा ने बताया कि श्री गौड़ ब्राह्मण समाज कोटा ने 40,500 रुपये व श्री गौड़ ब्राह्मण समाज बारां द्वारा 11,000 रुपये पत्नी सीता बाई के बैंक खाते में जमा करवायी गई। इसके अलावा श्री गौड़ ब्राह्मण समाज के कोटा भामाशाह मंडी में कार्यरत मुनीमों ने सहायता के हाथ आगे बढाते हुये 30,100 रुपये उनका घर जाकर भेंट किये। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद