रेल यात्रियों के लिए 'रेल मदद' एप एक घण्टे से भी कम समय में कर रहा शिकायतों का समाधान

रेल यात्रियों के लिए 'रेल मदद' एप एक घण्टे से भी कम समय में कर रहा शिकायतों का समाधान
'Rail Madad' app for railway passengers, resolving complaints in less than an hour

जयपुर, 17 जनवरी (हि.स.)। रेल यात्रियों को आरामदायक एवं सुरक्षित यात्रा के साथ ही सफ र के दौरान हर मुश्किल शिकायत का निदान करने के लिए रेलवे तत्पर है। इस हेतु रेलवे ने 'रेल मदद' जारी किया है। रेल यात्री अथवा ग्राहक इस ऐप से अपनी शिकायतें, पूछताछ एवं सहायता आदि का लाभ उठा सकते है। इस ऐप्प के जरिए फ्रेट और पार्सल की शिकायत/जानकारी भी प्राप्त कर सकते है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी ने रविवार को बताया कि भारतीय रेलवे 'रेल मदद' पोर्टल से यात्रियों की शीघ्र मदद कर सकेगा। इस पोर्टल पर प्राप्त शिकायत के बारे में रेलकर्मी संबंधित यात्री को फोन कर कारण पूछेगा, कोई समस्या होगी तो तत्काल निस्तारण करेगा। इस पोर्टल पर रेलवे सम्बन्धित सुझाव को भी स्वीकार किया जायेगा। रेलवे बोर्ड ने हेल्पलाइन नंबर 139 की तरह शिकायत व सुझाव के सभी माध्यमों को 'रेल मदद' पोर्टल व उसके एप में समायोजित कर दिया गया है। अब यात्री मोबाइल, लैपटाप या कंप्यूटर पर 'रेल मदद' पोर्टल या एप्प के माध्यम से रेलवे तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं। रेलवे ने हर समस्या के निस्तारण की समय सीमा भी निर्धारित कर दी है। निर्धारित समय में समाधान नहीं हुआ, तो शिकायत उच्च अधिकारी तक पहुंचती जाएगी। जवाबदेही भी तय होगी। साथ ही निस्तारण की सूचना भी शिकायतकर्ता को देते हुए उससे फीडबेक भी मांगा जाएगा। 'रेल मदद' एप एनटीईएस, पीआरएस, यूटीएस और आईसीएमएस से जोड़ा गया है। इस ऐप्प पर शिकायतें आसानी से दर्ज हो जाती हैं। 'रेल मदद' एप पर जिन शिकायतों/सुझावों को दर्ज किया जा सकेगा उसके लिए यात्रियों को अपना नाम और मोबाइल नंबर भरना होगा। इसके बाद ओटीपी की मदद से लॉग-इन कर सकेंगे। शिकायत करने के लिए यात्रियों को अपना पीएनआर/यूटीएस टिकट नं डालना होगा। इसके बाद शिकायत की सूची स्क्रीन पर दिखाई देगी। सूची से इच्छित शिकायत दर्ज की जा सकेगी। इस ऐप्प के जरिए आप अपनी शिकायत करते हुए तस्वीर भी अपलोड कर सकते हैं। इससे रेलवे को रियलटाइम शिकायत मिलेगी और आप लगातार अपनी शिकायत पर फीडबेक को ट्रैक भी कर सकते हैं। इस ऐप के जरिए जनरल डिब्बे में सफर कर रहे यात्री भी शिकायत कर सकते है। वर्ष-2020 में 9597 शिकायतें प्राप्त और सभी का समाधान उत्तर पश्चिम रेलवे पर 'रेल मदद' पोर्टल या एप से 2020 में जनवरी से दिसम्बर माह तक कुल 9597 शिकायतें प्राप्त की गई तथा सभी शिकायतों का समाधान कर दिया गया है। इस अवधि में शिकायतों के समाधान की औसत अवधि 56 मिनट रही है। दिसम्बर 2020 में ही कुल 806 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनका समाधान 38 मिनट औसत समय में किया गया। उत्तर पश्चिम रेलवे शिकायतों के निपटारे में भारतीय रेलवे स्तर पर तीसरे पायदान पर है। महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ने संबंधित अधिकारियों को शिकायतों के निपटारे में पहले पायदान का लक्ष्य निर्धारित किया है। महाप्रबन्धक के दिशा-निर्देशों के पश्चात् सभी विभागों में शिकायतों का निस्तारण तेज हो गया है। यात्री सुविधाओं को बेहतर बनाने की दिशा में रेलवे लगातार प्रयास कर रहा है। इसी दिशा में रेल मदद पोर्टल व एप एक कदम है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/संदीप-hindusthansamachar.in