39chiranjeevi39-scheme-includes-package-of-1576-different-diseases
39chiranjeevi39-scheme-includes-package-of-1576-different-diseases
राजस्थान

'चिरंजीवी' योजना में 1576 विभिन्न बीमारियों के पैकेज शामिल

news

बीकानेर, 08 अप्रैल (हि.स.)। राजस्थान सरकार द्वारा लागू की जा रही मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना 'चिरंजीवी' साबित होगी। इस योजना में विभिन्न बीमारियों के 1576 पैकेज शामिल किए गए हैं। जिला कलेक्टर नमित मेहता ने गुरुवार दोपहर पत्रकार सम्मेलन में बताया कि 850 रुपए प्रतिवर्ष के प्रीमियम पर योजना से जुड़ सकते हैं साथ ही योजना से जुड़े निजी एवं सरकारी अस्पतालों में लाभार्थी परिवार कैशलैस उपचार ले सकते हैं। मरीज के अस्पताल में भर्ती होने से पांच दिन पहले का और डिस्चार्ज के बाद पन्द्रह दिनों का चिकित्सा खर्च पैकेज में शामिल है। उन्होंने बताया कि चिन्हित सामान्य बीमारियों के लिए 50 हजार रुपए एवं गंभीर बीमारियों के लिए 4 लाख 50 हजार रुपए प्रतिवर्ष बीमा कवर मिलेगा। निर्धारित पैकेज में लाभार्थी के लिए सभी सुविधाएं कैशलेस है। अस्पताल किसी भी रुप में मरीज से कोई भी राशि वसूल नहीं कर सकते हैं। अस्पताल को इलाज के बदले पैकेज की निश्चित दर के अनुसार बीमा कम्पनी द्वारा पुनर्भरण होता है। साथ ही ये सुविधाएं आईपीडी यानि अस्पताल में भर्ती होकर इलाज करवाने के लिए ही मान्य होंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा है कि राजस्थान के हर परिवार को कैशलैस इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक के स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिले इसी को ध्यान में रखते हुए योजना ई-मित्र पर पंजीयन के लिए भी अब कोई शुल्क भी नहीं लगेगा। प्रेस-कांफ्रेंस में आईएएस कनिष्क कटारिया, नगर निगम कमिश्नर ए.एच.गौरी, सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप, राजेंद्र जोशी, जनसम्पर्क उपनिदेशक हरिशंकर आचार्य भी मौजूद थे। रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज होंगे ये कलेक्टर मेहता ने बताया कि रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, जन-आधार कार्ड या जन-आधार संख्या या जन-आधार के रजिस्ट्रेशन की रसीद चाहिएगी। ऐसे परिवार जिनका जन-आधार या भामाशाह नामांकन नहीं हुआ है उन्हें पहले जन-आधार नामांकन करवाना होगा। इसके बाद ही योजना के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। आयु की कोई सीमा नहीं और इन निजी अस्पतालों में मिलेगा लाभ मुख्यमंत्री की इस चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पूरे परिवार की बीमा योजना है। जिसमें आयु की भी कोई सीमा नहीं है। योजना में परिवार के सदस्यों की संख्या की पाबंदी भी नहीं है। शिशु से लेकर बुजुर्ग तक सभी इस स्वास्थ्य कल्याणकारी बीमा योजना में लाभाथी होंगे। साथ ही निजी क्षेत्र की वरदान हॉस्पिटल, डॉ. तनवीर मालावत अस्पताल, जीवन रक्षा अस्पताल, एम.एन.अस्पताल, श्रीराम अस्पताल में इस योजना का लाभ मिल सकेगा। हिन्दुस्थान समाचारर/राजीव/ ईश्वर