18 साल से विधवा को फैमिली पेंशन नहीं देने पर मांगा जवाब
18 साल से विधवा को फैमिली पेंशन नहीं देने पर मांगा जवाब
राजस्थान

18 साल से विधवा को फैमिली पेंशन नहीं देने पर मांगा जवाब

news

जयपुर, 07 सितम्बर (हि.स.)। राजस्थान हाईकोर्ट ने अविवाहित पुलिस कॉन्सटेबल की मौत के बाद उसकी विधवा मां को फैमिली पेंशन का लाभ नहीं देने पर पाली कलक्टर, एसपी और आईजी मुख्यालय को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायाधीश इन्द्रजीत सिंह ने यह आदेश शकुंतला देवी की याचिका पर दिए। याचिका में अधिवक्ता मोहित बलवदा ने अदालत को बताया कि याचिकाकर्ता का अविवाहित पुत्र की पुलिस कॉन्सटेबल के पद पर पांच साल की सेवा के बाद 23 अप्रैल 2002 को मौत हो गई थी। इस पर याचिकाकर्ता की ओर से राजस्थान सिविल सेवा पेंशन नियम, 1996 के तहत फैमिली पेंशन के लिए आवेदन किया, लेकिन 18 साल बीतने के बाद अब तक उसे पेंशन जारी नहीं की गई। जबकि इस अवधि में वह कई बार विभाग के आलाधिकारियों को पत्र लिख चुकी है। याचिका में कहा गया कि याचिकाकर्ता विधवा महिला है और उसकी आय का भी अन्य कोई साधन नहीं है। इसके अलावा नियमानुसार एक साल की सरकारी सेवा के बाद संबंधित कर्मचारी के आश्रित फैमिली पेंशन के पात्र हो जाते हैं। जिस पर सुनवाई करते हुए एकलपीठ ने संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। हिन्दुस्थान समाचार/पारीक-hindusthansamachar.in