हिन्दू संस्कृति का सम्मान की मांग को लेकर हिन्दू जागरण मंच ने निकाला जनता मार्च
हिन्दू संस्कृति का सम्मान की मांग को लेकर हिन्दू जागरण मंच ने निकाला जनता मार्च
राजस्थान

हिन्दू संस्कृति का सम्मान की मांग को लेकर हिन्दू जागरण मंच ने निकाला जनता मार्च

news

बीकानेर, 05 नवम्बर (हि.स.)। हिन्दू जागरण मंच की ओर से गुरुवार को हिन्दू संस्कृति का सम्मान की मांग को लेकर जनता मार्च निकाला गया। जनता मार्च के जरिए लव जिहाद, पटाखों के विक्रय और छोडऩे का विरोध भी जताया गया। मंच के प्रतिनिधिमण्डल ने अपनी मांगों का राष्ट्रपति और राज्यपाल के नाम का ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा। मंच के प्रांत संयोजक जेठानंद व्यास ने बताया कि रतनबिहारी पार्क से सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शुरू हुआ जनता मार्च कलेक्टर कार्यालय पहुंचा। इसके बाद मंच प्रतिनिधिमण्डल ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जिसके जरिए राष्ट्रपति और राज्यपाल को अवगत कराया गया कि लव जिहाद के कारण निकिता तोमर की हत्या की गई, निकिता के हत्यारों को फांसी दी जाए। उन्होंने कहा कि फ्रांस व विश्व के अन्य शहरों में धर्मान्धता के नाम से क्रूर हत्याएं हो रही हैं और उन हत्याओं को जायज ठहराते हुए रैली व मार्च निकाले जा रहे हैं, ये संविधान विरोधी है और प्रत्यक्ष रूप से आतंकवादियों का समर्थन करना दर्शाते हैं। हिन्दु जागरण मंच मांग करता है कि इन लोगों के विरूद्ध देश विरोधी एंव आतंकविरोधी कानून के तहत प्रकरण दर्ज कर दण्डित करवाने की कार्यवाही की जाए। साथ ही महाराष्ट्र सरकार द्वारा हिन्दुओं के प्रति भेदभाव पूर्ण व्यवहार किया जा रहा है और हिन्दुओं के समर्थन में आवाज उठाने वालों को अकारण जेल में डाला जा रहा है। अर्नब गोस्वामी को झूठे केस में फंसा कर गिरफ्तार किया जाना भी इसी कड़ी का भाग है। हिन्दू जागरण मंच मांग करता है कि उसे तुरन्त रिहा किया जाए। ज्ञापन के जरिए राष्ट्रपति और राज्यपाल को यह भी अवगत कराया गया कि पिछले कुछ समय से हिन्दू समाज के त्यौहारों पर कुछ तथा-कथित लोगों द्वारा त्यौहारों मनाने से रोकने का षडयन्त्र चल रहा है जिनमें होली पर पानी की बर्बादी का कह कर तिलक होली का आवाहन किया जाता है और छोटे-छोटे बच्चों से स्कूलों में शपथ दिला कर उनकी भावनाओं से खिलवाड़ किया जाता है। इसी प्रकार आखातीज पर पक्षीयों को चोट लगने के नाम पर उसे रोकने का प्रयास किया जाता है। अब उसी क्रम में गत् वर्ष वायु एवं ध्वनी प्रदूषण के नाम पर दीपावली पर पटाखों के चलाने पर समयावधि निर्धारित की गई थी और अब इस वर्ष दीपावली पर पटाखे चलाने व विक्रय करने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है जो हिन्दू समाज के प्रति षडयन्त्र है। एक संवैधानिक सरकार द्वारा इन षडयन्त्रों में भागीदारी करना दुर्भाग्यपूर्ण है। हिन्दू जागरण मंच इस षडयन्त्रों के विरूद्ध रोक लगाने की मांग करता है और निवेदन करता है कि दिवावली के अवसर पर पटाखों के विक्रय एवं छोडऩे के लिए लाए गए अध्यादेश पर तुरन्त रोक लगाने का आदेश जारी करेंए जिससे हिन्दू समाज अपनी संस्कृति के अनुसार दीपावली विधिवत् मना सके। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/ ईश्वर-hindusthansamachar.in