सीमावर्ती क्षेत्रों में चाइल्ड लाइन ने आमजन तक पहुंचाया सेहत की रक्षा का पैगाम
सीमावर्ती क्षेत्रों में चाइल्ड लाइन ने आमजन तक पहुंचाया सेहत की रक्षा का पैगाम
राजस्थान

सीमावर्ती क्षेत्रों में चाइल्ड लाइन ने आमजन तक पहुंचाया सेहत की रक्षा का पैगाम

news

जैसलमेर, 18 अक्टूबर (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना से समुदाय को बचाने के लिए जिले भर में शासन-प्रशासन के साथ ही विभिन्न संस्थाओं तथा एजेन्सियों द्वारा किए जा रहे बहुआयामी प्रयासों के सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं और इससे बचाव का संदेश शहरों से लेकर गांव-कस्बों व दूरदराज के सीमावर्ती क्षेत्रों तक पहुंच रहा है। कोरोना वैश्विक महामारी के संकट काल में जन-जन को संक्रमण से बचने और बचाने की दिशा में सिकोईडिकोन संस्था द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन 1098 परियोजना द्वारा जारी जन जागरुकता अभियान की अहम भूमिका रही है। यह अभियान पिछले कई माह से निरंतर जारी है। बच्चों के कल्याण के उद्देश्य से संचालित संस्था चाइल्ड लाइन की कई टीमें पिछले काफी अरसे से लोक जागरुकता के अनर्थक प्रयासों में अहर्निश जुटी हुई हैं। इन टीमों द्वारा गांवों, कस्बों और शहरों से लेकर ठेठ सीमा पर अवस्थित क्षेत्रों में पहुंच कर कोरोना से बचाव के लिए आमजन से अपील का दौर लगातार चल रहा है। इस इस दौरान लोगों को कोरोना संक्रमण से खतरों के बारे में अवगत कराते हुए इससे बचने के लिए जारी गाइड लाइन और सावधानियों के पालन के बारे में बताया जाता रहा है। चाइल्ड लाइन द्वारा पिछले महीनों में कोरोना से बचाव के लिए संचालित विभिन्न गतिविधियों में सहभागिता निभाई जा रही है। खासकर पलायन को मजबूर मजदूर वर्ग के बच्चों के लिए मूलभूत आवश्यकताओं, भोजनादि के लिए नगरपरिषद, प्रशासन एवं भामाशाहों के सहयोग से उन परिवारों तक भोजन की व्यवस्था सुलभ करवाने में भागीदारी निभाई गई। चाइल्ड लाइन 1098 टीम द्वारा कोविड काल में जैसलमेर में विशेष तौर पर कच्ची बस्तियों-गजरूपसागर कच्ची बस्ती, पुलिस लाईन कच्ची बस्ती, रानीसर कच्ची बस्ती, सन्तूराम की ढांणी, गफूर भट्टा, बड़ाबाग भील बस्ती, भील बस्ती जैसलमेर, लौहारवास, तोतारम की ढाणी, बबर मगरा, सुदासर कच्ची बस्ती, किशनघाट आदि स्थानों पर आउटरीच गतिविधियों के माध्यम से जन जागरुकता अभियान निरन्तर किया जाकर अधिकाधिक व्यापक जागरुकता प्रचार-प्रसार किया जाता रहा है। टीम द्वारा महामारी के दौर में इन 12 स्थानों पर लगभग 1500 से अधिक परिवारों तक कोरोना से बचाव एवं संरक्षण, बच्चों के बाल अधिकारों और चाइल्ड लाइन 1098 की सेवाओं के बारे में जानकारी देने का कार्य किया गया। इस समय जिले के विभिन्न क्षेत्रों में चाइल्ड लाइन की बहुद्देश्यीय गतिविधियों का दौर निरन्तर बना हुआ है। चाइल्ड लाइन की टीमों द्वारा कच्ची बस्तियों में कोरोना से बचाव के लिए मास्क का वितरण करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें आयुर्वेदिक औषधियों वाला काढ़ा भी पिलाया गया। कई स्थानों पर हैण्ड सेनेटाईजर का वितरण भी किया गया। ग्रामीणों और शहरवासियों को प्रायोगिक ढंग से हाथ धोने के बारे में बताया गया। बचाव व सावधानियों से संबंधित प्रचार साहित्य का वितरण व चस्पाकरण का कार्य भी किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in