शेखावाटी में मिलेगा खजूर की खेती को बढ़ावा
शेखावाटी में मिलेगा खजूर की खेती को बढ़ावा
राजस्थान

शेखावाटी में मिलेगा खजूर की खेती को बढ़ावा

news

झुंझुनू,17 जुलाई(हि.स.)। राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र में किसानों को परंपरागत खेती से हटाकर नकद फसल वाली फायदेमंद फसलों की खेती करने के लिए प्रेरित कर उनका रूझान बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। झुंझुनू जिले के किसानो में मूंगफली की खेती के प्रति बढ़े रूझान के बाद अब किसान अपने खेतों में खजूर के पौधे लगाकार भारी मुनाफा कमा सकते हैं। इसी श्रृंखला में उद्यान विभाग जिले में लगातार विभिन्न प्रकार के नवाचार कर किसानों को बागवानी की तरफ ले जा रहा है। इसी बीच उद्यान विभाग की ओर से राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में टिश्यू कल्चर तकनीक से उत्पादित खजूर के पौधे लगाने पर अनुदान के रूप में मदद मुहैया करवायी जायेगी। इसी के तहत जिले में उद्यान विभाग की ओर किसानों को खजूर की खेती करने के लिये प्रति हैक्टेयर 156 पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसमें 148 पौधे मादा व आठ नर होंगे। खजूर पौधरोपण पर किसानों को अनुदान प्रति पौधे तीन हजार रुपए या प्रति पौधा इकाई लागत का 75 प्रतिशत जो भी कम देय होगा दिया जाएगा। बागवानी से जुड़े विशेषज्ञों के अनुसार शेखावाटी के वातावरण के हिसाब से खजुर की कुछ किस्में यहां पर सफल हो सकती हैं। इनमें खुनेजी, बरही, ताजा फलों वाली किस्में हैं। शेष किस्में पिंड खजूर वाली होती हैं। खजूर के अलावा किसानों को नींबू, मौसमी व किन्नू, बेर, बिल एवं अनार के पौधों पर भी 20 हजार रुपए प्रति हैक्टेयर के हिसाब से दिए जाएंगे। इसके किसानों को 0.5 हैक्टेयर से 4.0 हैक्टेयर क्षेत्रफल पर अनुदान दिया जा सकेगा। फलदार पौधों का फायदा उठाने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। जिसमें किसान वर्ग से जुड़े कई प्रकार के दस्तावेज होंगे। उद्यान विभाग झुंझुनू के सहायक निदेशक डा. धर्मवीर डूडी का कहना है कि किसानों को राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में टिश्यू कल्चर तकनीक से उत्पादित खजूर के पौधे लगाने पर उद्यान विभाग अनुदान के रूप में मदद मुहैया कराएगा। प्रति एक पौधे पर किसानों को तीन हजार रुपए तक का अनुदान दिया जाएगा। इसके अलावा अन्य फलदार पौधों पर भी अनुदान दिया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार / रमेश सर्राफ / ईश्वर-hindusthansamachar.in