विज्ञान चेतना यात्रा कार्यक्रमों के लिए सीरी और विज्ञान भारती में समझौता
विज्ञान चेतना यात्रा कार्यक्रमों के लिए सीरी और विज्ञान भारती में समझौता
राजस्थान

विज्ञान चेतना यात्रा कार्यक्रमों के लिए सीरी और विज्ञान भारती में समझौता

news

झुंझुनू, 07 सितंबर(हि.स.)। सीएसआईआर-सीरी के जयपुर केंद्र (इनक्यूबेशन-कम-इनोवेशन हब) में विज्ञान भारती राजस्थान एवं सीएसआईआर-सीरी के बीच "मैं भी बनूंगा कलाम" तथा "विज्ञान चेतना यात्रा कार्यक्रमों" में आपसी सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। कार्यक्रम में सचिव डॉ. मेघेन्द्र शर्मा द्वारा विज्ञान भारती-राजस्थान की ओर से तथा सीएसआईआर सीरी पिलानी के निदेशक डॉ. पीसी पंचारिया की ओर से समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। प्रोफ़ेसर उदय कुमार आर यारागट्टी निदेशक एमएनआईटी-जयपुर, डॉ, अश्विनी शर्मा चांसलर वीबी यूनिवर्सिटी, डॉ लक्ष्मणसिंह राठौड़ अध्यक्ष विज्ञान भारती-राजस्थान, शैलेश जैन संयुक्त सचिव विज्ञान भारती-राजस्थान, डॉ. साई कृष्णा प्रभारी वैज्ञानिक सीएसआईआर-सीरी जयपुर केंद्र की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। सीरी पिलानी केंद्र के निदेशक डॉ. पीसी पंचारिया ने इस राष्ट्री य अनुसंधान प्रयोगशाला की स्थापना के बारे में बताते हुए सीरी एवं इसके विस्ता र केंद्रों में चल रही अनुसंधान गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। डॉ. पंचारिया ने यह भी आशा व्यक्त की कि विज्ञान को विद्यार्थियों एवं जनसामान्यस तक पहुंचाने के उद्देश्यर से भविष्य में विज्ञान भारती, राजस्थाकन एवं सीएसआईआर-सीरी के बीच सहयोग और अधिक बढ़ेगा जिससे राजस्थाकन के निवासी लाभान्वित होंगे। इस अवसर पर डॉ. मेघेन्द्र शर्मा ने विज्ञान भारती न्यूज़ लेटर प्रारंभ करने की भी घोषणा की। इस न्यूज़लेटर में सीएसआईआर-सीरी जैसे विशिष्ट प्रौद्योगिकी संस्थानों में किए जा रहे ऐसे नवाचारों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा जोकि जनसामान्य के दैनिक जीवन के लिए अत्यंत उपयोगी हो। इसके बाद डॉ पंचारिया ने सभी अतिथियों को सीएसआईआर-सीरी के जयपुर में स्थित इनक्यूबेशन-कम-इनोवेशन हब पर स्थित टेस्टिंग फैसिलिटी एवं उपलब्ध आधारभूत ढांचे (इंफ्रास्ट्रक्चर) का अवलोकन करवाया। हिन्दुस्थान समाचार / रमेश/संदीप-hindusthansamachar.in