रोडवेज में समय पालकों के लिए आगारों के मुख्य ट्रेनरों को दिया प्रशिक्षण
रोडवेज में समय पालकों के लिए आगारों के मुख्य ट्रेनरों को दिया प्रशिक्षण
राजस्थान

रोडवेज में समय पालकों के लिए आगारों के मुख्य ट्रेनरों को दिया प्रशिक्षण

news

जयपुर, 08 जुलाई (हि. स.)। राजस्थान रोडवेज प्रबन्धन द्वारा समय पालक व्यवस्था में पारदर्शिता लागू करने के उद्देश्य से मुख्यालय में बुधवार को सभी 52 आगारों के एक प्रबंधक एवं एक सहायक को समय पालक से सम्बन्धित कार्यों के लिए मुख्य ट्रेनर को प्रशिक्षण दिया गया, जो मुख्य समय पालक एवं समय पालक को समय-समय पर प्रशिक्षण देंगे। रोडवेज के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक नवीन जैन ने बताया कि राजस्थान रोडवेज में मनमाने तरीके से शिड्यूल रूट बनाने की शिकायतों के बीच नवाचार करने के उद्देश्य से समय पालक व्यवस्था में पारदर्शिता लाने के मकसद से आगारों में समय पालक का कार्य करने वाले कर्मचारियों को ट्रेनिंग देने का निर्णय किया गया है। इसके तहत बुधवार को मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण दिया गया। सभी 52 आगारों से एक प्रबंधक स्तर एवं एक सहायक को मास्टर ट्रेनर के रूप में मुख्यालय के अधिकारियों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। मास्टर ट्रेनर को प्रशिक्षण देने के लिये कार्यकारी निदेशक (प्रशासन/यातायात) एमपी मीना की अध्यक्षता में कार्यकारी निदेशक (यांत्रिक) रवि सोनी, उप महाप्रबंधक (सांख्यिकी) ओपी शर्मा को नोडल अधिकारी तथा मुख्यालय के अधिकारियों द्वारा पावर पॉइन्ट प्रजेन्टेशन के साथ समय पालक का कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को अन्य पहलुओं पर विशेष प्रशिक्षण दिया गया। उल्लेखनीय है कि आगारों में कार्यरत मुख्य समय पालक व समय पालक का कार्य कर रहे कर्मचारी आवंटित कार्य तथा दायित्वों का निर्वहन उचित प्रकार से नहीं कर रहे तथा उनके विरुद्ध चालक-परिचालकों से लगातार मिल रही शिकायतों को देखते हुए मुख्यालय स्तर पर मॉनिटरिंग के लिए कार्यकारी प्रबन्धक यातायात/संस्थापन, सहायक प्रशासनिक अधिकारी यांत्रिक को जिम्मेदारी दी गई हैं। इन अधिकारियों द्वारा मुख्यालय स्तर से सभी आगारों के लिये प्रत्येक माह की 25 तारीख तक आगामी माह के लिए मुख्य समय पालक परिचालक वर्ग तथा मुख्य समय पालक चालक वर्ग का पदस्थापन किया जाएगा। उप महाप्रबन्धक सांख्यिकी द्वारा आगारों से प्रत्येक माह गत माह की आय के आधार पर परिचालकों एवं गत माह की डीजल औसत के आधार पर चालकों का ड्यूटी रोस्टर 25 तारीख तक प्राप्त कर चालक एवं परिचालकों की ड्यूटी सुनिश्चित की जाएगी। इसके लिए मुख्यालय से परिपत्र जारी कर मुख्य समय पालक परिचालक वर्ग एवं मुख्य समय पालक चालक वर्ग के कार्य भी निर्धारित किए गए हैं, जिसमें समय पालक द्वारा ड्यूटी चार्ट बनाने के साथ ही चालक-परिचालक लाइसेन्स रिन्यूवल, रजिस्टर संधारण, आगार से वाहन प्रस्थान समय से 30 मिनट पूर्व निर्धारित वर्दी, लाईसेन्स व बैज इत्यादि की जांच की जाएगी। मुख्य समय पालक चालक कम डीजल औसत देने व प्राणघातक दुर्घटना करने वाले चालकों को प्रशिक्षण पर भिजवाने, 50 वर्ष से अधिक आयु के चालकों का मेडिकल प्रशिक्षण इत्यादि करवाना सुनिश्चित करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप-hindusthansamachar.in