राजस्थान बोर्ड की 10वीं, 12वीं व समकक्ष पूरक परीक्षाएं गुरुवार से
राजस्थान बोर्ड की 10वीं, 12वीं व समकक्ष पूरक परीक्षाएं गुरुवार से
राजस्थान

राजस्थान बोर्ड की 10वीं, 12वीं व समकक्ष पूरक परीक्षाएं गुरुवार से

news

अजमेर, 02 सितम्बर(हि.स.)। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सैकण्डरी और सीनियर सैकण्डरी समकक्ष पूरक परीक्षाएं-2020 गुरुवार से आयोजित होंगी। यह परीक्षाएं 12 सितम्बर तक चलेंगी। बोर्ड के अध्यक्ष डाॅ. डी.पी. जारोली ने बताया कि वर्ष-2020 की पूरक परीक्षाओं के लिए कुल 1 लाख 23 हजार 148 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए हैं, जिनमें सर्वाधिक 93 हजार 700 सैकण्डरी पूरक परीक्षा, सीनियर सैकण्डरी समकक्ष पूरक परीक्षाओं में 38 हजार 500, प्रवेशिका 734 और वरिष्ठ उपाध्याय 214 परीक्षार्थी पूरक परीक्षा में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि पूरक परीक्षाओं के लिए प्रदेश में कुल 235 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। उनमें जयपुर जिले में सर्वाधिक परीक्षा केन्द्र 21, अलवर में 14, झुंझुंनू में 12, उदयपुर, जोधपुर और चुरू 10-10, नागौर, श्रीगंगानगर, भीलवाड़ा, भरतपुर, बीकानेर, कोटा और पाली 8-8, चित्तौडगगढ़, दौसा, राजसमन्द, अजमेर, बांसवाडा और बाडमेर 7-7, डूंगरपुर, जालोर, झालावाड़ और सीकर में 6-6, टोंक, बारां और हनुमानगढ़ में 5-5, बूंदी, धोलपुर, करौली और प्रतापगढ़ में 4-4, सवाईमाधोपुर में 3 और जैसलमेर 2 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। प्रश्न-पत्रों की सुरक्षा की दृष्टि से सभी परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र निकटवर्ती पुलिस थानों में रखवाये गये हैं। परीक्षा समाप्त होने के दिन ही सभी उत्तरपुस्तिकायें बोर्ड के केन्द्रीय कार्यालय में मंगवाने की दृष्टि से राज्य में 28 उत्तरपुस्तिका संग्रहण-वितरण केन्द्र भी बनाये गये हैं। बोर्ड अध्यक्ष डाॅ. जारोली ने बताया कि कोविड 19 के दृष्टिगत बोर्ड ने सभी केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिये हैं कि परीक्षा से पूर्व परीक्षा केन्द्रों को स्थानीय निकाय के सहयोग से पूर्णतयाः सैनिटाइज कराया जाये। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा जिला प्रशासन के सहयोग से प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर परीक्षार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की जाए। इसके अतिरिक्त सभी परीक्षा केन्द्रों को परीक्षार्थियों के हाथ साफ कराने के लिए सैनिटाइजर व साबुन के लिए विशेष बजट भी आवंटित किया गया है। अभिभावकों को सलाह दी गई है कि वे परीक्षार्थी के साथ सैनिटाइजर व पीने के पानी की बोतल जरूर भेजे। परीक्षा कक्ष में सोशल डिस्टेसिंग रहे इसलिए गत वर्ष की तुलना में प्रत्येक कक्ष में परीक्षार्थियों की बैठक संख्या कम की गई है और इस कारण परीक्षा केन्द्रों की संख्या में लगभग 20 प्रतिशत का इजाफा किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/ ईश्वर-hindusthansamachar.in