राजस्थान के 27 जिलों में 3848 पंच सरपंच के लिए 28 से 10 अक्टूबर तक चार चरणों में मतदान
राजस्थान के 27 जिलों में 3848 पंच सरपंच के लिए 28 से 10 अक्टूबर तक चार चरणों में मतदान
राजस्थान

राजस्थान के 27 जिलों में 3848 पंच सरपंच के लिए 28 से 10 अक्टूबर तक चार चरणों में मतदान

news

जयपुर, 07 सितम्बर (हि.स.)। राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रदेश के 27 जिलों में पंच और सरपंच पद के लिए 3848 पदों के लिए चुनाव कार्यक्रम की सोमवार को घोषणा कर दी। चुनाव कार्यक्रम के अनुसार इन पदों के लिए चुनाव 4 चरणों में करवाए जाएंगे। पहले चरण का चुनाव 28 सितंबर को होगा। दूसरा चरण 4 अक्टूबर, तीसरा चरण 6 अक्टूबर और चौथा चरण 10 अक्टूबर को पूर्ण होगा। चुनावों की घोषणा के साथ ही प्रदेश में आचार संहिता लागू हो गई है। राज्य में पंचायत चुनाव अप्रैल में प्रस्तावित थे, लेकिन कोरोना महामारी के संक्रमण के चलते लागू किए गए लॉकडाउन में चुनाव टाल दिए गए थे। राज्य निर्वाचन आयोग ने कोरोना महामारी को ध्यान मे रखते हुए मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या को 1100 से घटाकर 900 कर दिया है। जबकि, मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ा दी गई है। साथ ही मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ाया गया है। मतदान का समय अब सुबह 7.30 से शाम 5.30 बजे तक रखा गया है। मतदान के दिन मुंह पर मास्क और दो गज की दूरी के नियम का पालन अनिवार्य रूप से करवाया जाएगा। पहले चरण में 27 जिलों की 1003, दूसरे चरण में 1028, तीसरे चरण में 943 और चौथे चरण में 874 ग्राम पंचायतों के लिए चुनाव होगा। इसी दौरान चारों चरण में 35 हजार 968 वार्ड पंच भी चुने जाएंगे। प्रदेश के अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चूरू, दौसा, धौलपुर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, जयपुर, जैसलमेर, जालोर, झुंझुनूं, जोधपुर, करौली, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही और उदयपुर जिल में चुनाव प्रस्तावित हैं। यह रहेगा कार्यक्रम प्रथम चरण के चुनाव कार्यक्रम में 19 सितंबर को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा सकेंगे। 20 सितंबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी। इसी दिन अपराह्न 3 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। इसी दिन चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाएंगे। 27 सितंबर को मतदान दल रवाना होंगे। 28 सितंबर को मतदान होगा। इसी दिन पंचायत मुख्यालय पर मतगणना होगी। 29 सितंबर को उपसरपंच का चुनाव होगा। दूसरे चरण के चुनाव कार्यक्रम में 23 सितंबर को नामांकन-पत्र दाखिल किए जाएंगे। 24 सितंबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी और इसी दिन नाम वापस लिए जा सकेंगे। इसके बाद चुनाव चिह्न आवंटित किए जाएंगे। 2 अक्टूबर को मतदान दल रवाना होंगे। 3 अक्टूबर को मतदान होगा। इसी दिन शाम को परिणाम जारी कर दिए जाएंगे। 4 अक्टूबर को उपसरपंच के चुनाव कराए जाएंगे। तीसरे चरण के चुनाव कार्यक्रम में 26 सितंबर को नामांकन-पत्र दाखिल किए जा सकेंगे। 27 सितंबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी और इसी दिन नाम वापस लिए जा सकेंगे। इसके बाद चुनाव चिह्न आवंटित किए जाएंगे। 5 अक्टूबर को मतदान दल रवाना होंगे। 6 अक्टूबर को मतदान होगा। इसी दिन शाम को मतगणना कर परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। 7 अक्टूबर को उपसरपंच का चुनाव होगा। चौथे चरण के चुनाव कार्यक्रम में 30 सितंबर को नामांकन-पत्र दाखिल किए जा सकेंगे। 1 अक्टूबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी। इसी दिन नाम वापस लिए जा सकेंगे। इसी दिन प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न आवंटित होंगे। 10 अक्टूबर को मतदान होगा और इसी दिन चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। 11 अक्टूबर को उप सरपंचों के चुनाव कराए जाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ ईश्वर-hindusthansamachar.in