यह पहली बार है जब किसी सरकार ने किसान के दर्द को पहचाना- सांसद दीयाकुमारी
यह पहली बार है जब किसी सरकार ने किसान के दर्द को पहचाना- सांसद दीयाकुमारी
राजस्थान

यह पहली बार है जब किसी सरकार ने किसान के दर्द को पहचाना- सांसद दीयाकुमारी

news

राजसमन्द, 22 सितम्बर (हि.स.)। सांसद और भाजपा की प्रदेश महामंत्री दीयाकुमारी ने लोकसभा और राज्यसभा से किसान हितेषी कृषि विधेयक पारित होने पर मोदी सरकार को बधाई देते कहा कि यह इतिहास में पहली बार हुआ है जब कोई पार्टी अपने घोषित मेनिफेस्टो के अनुरूप विधेयक ला रही है। कांग्रेस पर तंज कसते हुए सांसद दीयाकुमारी ने मंगलवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि कांग्रेस और विपक्षी दलों की घबराहट जायज है, जब वोट बैंक खिसकने लगता है तो ये विरोध की राजनीति पर उतर आते हैं। जनता के हित को नजरअंदाज करके पार्टी का नफा नुकसान देखने लगते हैं। यह वही कांग्रेस है जो आजादी के दशकों बाद तक कांग्रेस का हाथ गरीब के साथ और गरीबी हटाओ का नारा देकर अपना उल्लू सीधा करती आई है। इन नारों से न तो गरीबी हटी और न ही किसानों की आर्थिक प्रगति हुई। आजादी के इतने वर्षों बाद भी किसान के घर के हालात जस के तस बने हुए है। यह भी पहली बार हुआ है जब किसी सरकार ने किसानों के दर्द को पहचाना है। सांसद ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि बिल के विरोध में सरकारी स्तर पर गोपनीय तरीके से केंद्र सरकार के विरुद्ध किसानों को भड़काने की साजिश रची जा रही है, जो निंदनीय है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने रबी विपणन मौसम 2021-22 की सभी अधिदेशित रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी देने पर सांसद ने कहा कि किसानों को समृद्ध बनाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा हरसम्भव प्रयास किए जा रहे है। रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि करने के इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री एवं समिति सदस्यों का आभार व्यक्त करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी ने स्पष्ट रूप से घोषणा कर दी है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली बरकरार रहेगी और सरकार फसल खरीदती रहेगी तो इसके बाद विपक्ष के पास कहने को कुछ भी नहीं बचता है। विपक्ष किसानों को बरगलाना बंद करे। जनता में उनकी पोल खुल चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ ईश्वर-hindusthansamachar.in