बाहरी जांच व दवाइयों पर बिफरे संभागीय आयुक्त, अफसरों को लताड़ा
बाहरी जांच व दवाइयों पर बिफरे संभागीय आयुक्त, अफसरों को लताड़ा
राजस्थान

बाहरी जांच व दवाइयों पर बिफरे संभागीय आयुक्त, अफसरों को लताड़ा

news

बाड़मेर, 11 सितम्बर (हि. स.)। संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा बाड़मेर जिला अस्पताल में शुक्रवार को उस समय बिफर गए, जब उन्हें कुछ मरीजों के परिजनों ने यह जानकारी दी कि मरीजों के लिए यहां बाहर की जांचें और दवाइयां लिखी जा रही है। इस पर संभागीय आयुक्त शर्मा नाराज हो उठे और अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। संभागीय आयुक्त शर्मा ने शुक्रवार दोपहर जिला अस्पताल का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने मरीजों और उनके परिजनों से बातचीत कर अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के स्तर पर जांच सुविधाएं उपलब्ध होती है, लेकिन जिला अस्पताल में मरीजों को वही जांच बाहर जाकर महंगे दामों पर करवानी पड़ रही है। यह बेहद गंभीर मामला है। इसे लेकर उन्होंने व्यवस्थाओं में सुधार करने के निर्देश दिए। अस्पताल में साफ-सफाई की व्यवस्थाओं को लेकर भी उनका मूड खराब हो गया। उन्होंने पीएमओ बीएल मंसूरिया को फटकार लगाते हुए अस्पताल में व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश दिए। संभागीय आयुक्त डॉ. शर्मा ने बताया कि बाड़मेर जिला अस्पताल के निरीक्षण के बारे में पहले से तय था, इसके बावजूद भी अस्पताल में इस तरह की अव्यवस्थाएं सामने आई है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश दिए। साथ ही कुछ मामलों की जांच के लिए मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही अस्पताल की व्यवस्थाएं सुधारने के संबंध में अधिकारियों की बैठक कर लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान बाड़मेर जिला कलेक्टर विश्राम मीणा, एसडीएम प्रशांत शर्मा, पीएमओ डॉक्टर बीएल मंसूरिया, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आरके आसेरी और डीवाईएसपी महावीर प्रसाद समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप-hindusthansamachar.in