पुलिस जवानों ने जानी निश्चेतना विज्ञान की विधि
पुलिस जवानों ने जानी निश्चेतना विज्ञान की विधि
राजस्थान

पुलिस जवानों ने जानी निश्चेतना विज्ञान की विधि

news

जोधपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। विश्व निश्चेतना दिवस के उपलक्ष में रातानाडा पुलिस लाइन में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें वरिष्ठ निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. एमसी पंवार ने निश्चेतना विज्ञान के बारे में जानकारी दी। डॉ. पंवार ने बताया कि शल्यक्रिया के बिना आधुनिक स्वास्थ्य सेवा की कल्पना असंभव है। इसी प्रकार निश्चेतना के बिना शल्य क्रिया अकल्पनीय है। आधुनिक समय में भी आम आदमी को निश्चेतना विधान एवं निश्चेतना विशेषज्ञ के बारे में कई तरह के भ्रम व शंकाए है। विकासशील देशों में निश्चेतना के कारण मृत्यु दर 20 हजार में से एक व विकसित देशों में तीन लाख में से एक है। नई उत्तम दवाइयों, नये विशिष्ठ उपकरणों व नवीनतम कला व चौकन्ने निश्चेतना विशेेषज्ञों के कारण आज निश्चेतना ज्यादा सुरक्षित हो गया है लेकिन खतरो की संभावनाएं फिर भी रहती है हालांकि समय पर निदान होने पर नियंत्रण एवं निवारण किया जा सकता है। कार्यक्रम के दौरान डॉ. पंवार ने 180 सैकेंड में बेहोश मरीज की हृदय, फेफडे, पुनर्जिवन विधि से कैसे जान बचाई जा सकती है, के बारे में पुतले पर प्रदर्शन कर जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय एवं यातायात) राजेश कुमार मीणा, संचित पुलिस निरीक्षक ईश्वरचन्द्र पारीक सहित अनेक पुलिस अधिकारी व जवानों ने भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर-hindusthansamachar.in