पश्चिमी राजस्थान में बादलों की आवाजाही के बाद भी बारिश की उम्मीद अधूरी
पश्चिमी राजस्थान में बादलों की आवाजाही के बाद भी बारिश की उम्मीद अधूरी
राजस्थान

पश्चिमी राजस्थान में बादलों की आवाजाही के बाद भी बारिश की उम्मीद अधूरी

news

जयपुर, 23 जुलाई (हि. स.)। प्रदेश के विंड पैटर्न में हो रहे बदलाव के असर से अगले 48 घंटों में पूर्वोत्तर इलाकों के 13 जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इसके बाद दोबारा मौसम शुष्क रहने से गर्मी और उमस के तेवर तीखे होने की आशंका है। आधे से ज्यादा बीत चुके सावन में मानसून की बारिश का दौर कछुआ चाल से चला है। पूर्वोत्तर राज्यों में अटकी घटाएं धीमी रफ्तार से प्रदेश की ओर बढ़ रही है, लेकिन अब भी प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में बादलों की आवाजाही के बावजूद बारिश नहीं हो रही हैं। बारिश के अभाव में प्रदेश के अधिकांश जिलों में दिन में पारा औसत तापमान से कम दर्ज होने लगा है, लेकिन झमाझम बारिश का दौर शुरू होने में अब भी देरी हो रही है। बीते 24 घंटे में प्रदेश के ज्यादातर जिलों में दिन में पारा सामान्य तापमान से कम दर्ज हुआ। राजधानी जयपुर में गुरुवार को छितराए बादलों की आवाजाही रही और धूप-छांव की स्थिति बनी रही। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में अजमेर, अलवर, बारां, भरतपुर, बूंदी, जयपुर, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, धौलपुर, भीलवाड़ा, राजसमंद व उदयपुर जिलों में बारिश की चेतावनी दी है। बीती रात प्रदेश के माउंटआबू में 16.4, पिलानी में 25.1, श्रीगंगानगर में 25.5, अलवर में 25.8, भीलवाड़ा में 26.4, चित्तौडग़ढ़ में 26.5, चूरू में 26.5, डबोक में 27, अजमेर में 27.2, जैसलमेर में 27.2, बूंदी में 27.6, फलोदी में 27.6, जयपुर में 28.1, जोधपुर में 28.2, बीकानेर में 28.2 तथा बाड़मेर में 28.2 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ संदीप-hindusthansamachar.in