पंचमी पर हो रहा अविवाहित मृतात्माओं का श्राद्ध
पंचमी पर हो रहा अविवाहित मृतात्माओं का श्राद्ध
राजस्थान

पंचमी पर हो रहा अविवाहित मृतात्माओं का श्राद्ध

news

जोधपुर. 07 सितम्बर (हि.स.)। इन दिनों श्राद्ध अर्थात पितृ पक्ष काल चल रहा है। पितृ पक्ष में पूर्वजों का तिथि के अनुसार श्राद्ध कर्म किया जाता है। आश्विन माह के कृष्ण पक्ष में हर साल यह परंपरा निभाई जाती है। सोमवार को घरों में कईयों ने अविवाहित जो मृत्यु को प्राप्त हो चुके है उनका श्राद्ध किया गया। श्राद्ध काल का आज पांचवां दिन है। पंचमी पर उन लोगों का श्राद्ध कर्म किया जाता है, जिनका शादी से पहले ही स्वर्गवास हो गया हो। पंचमी के दिन अपने अविवाहित पूर्वजों को पूर्ण श्रद्धता के साथ याद करना चाहिए। यह तिथि रात पौने दस बजे तक है। उसके बाद षष्ठी का श्राद्ध आरंभ होगा। विद्वानों के अनुसार श्राद्ध पक्ष में पितरों को प्रसन्न करना चाहिए ताकि घर में सुख शांति कायम रह सके। उनके निमित किए गए श्राद्ध से शुभाशीष प्रदान करने वाले होते है। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर-hindusthansamachar.in