दुकानों की स्थिति बदलने पर बिल्डर पर पांच लाख रुपए का हर्जाना

दुकानों की स्थिति बदलने पर बिल्डर पर पांच लाख रुपए का हर्जाना
दुकानों की स्थिति बदलने पर बिल्डर पर पांच लाख रुपए का हर्जाना

जयपुर, 25 जुलाई (हि.स.)। राज्य उपभोक्ता आयोग ने आवंटित दुकानों का कब्जा समय पर नहीं देने और उनकी स्थिति में बदलाव करने पर अंसल प्रोपर्टीज पर पांच लाख रुपए का हर्जाना लगाया है। इसके साथ ही आयोग ने जमा राशि ब्याज सहित लौटाने को कहा है। आयोग ने यह आदेश रामफल सिंह की ओर से दायर परिवाद पर दिए। परिवाद में कहा गया कि परिवादी ने अजमेर के अंसल प्लाजा में करीब 51 लाख रुपए में दो दुकाने खरीदी। कंपनी ने अगस्त 2008 में दुकानों का अलॉटमेंट लेटर जारी कर तीन साल में कब्जा देने की बात कही। करीब नौ साल तक निर्माण नहीं होने पर परिवादी ने वर्ष 2017 में जमा राशि वापस देने की मांग की। इस पर कंपनी की ओर से परिवादी को दूसरी जगह दुकान आवंटित करने की जानकारी दी। परिवाद में कहा गया कि तय समय पर दुकान का कब्जा नहीं देने और दुकान की स्थिति बदलने के चलते उसे मानसिक संताप हुआ है। जिस पर सुनवाई करते हुए आयोग ने परिवादी को पांच लाख रुपए हर्जाना राशि अदा करने के आदेश देते हुए ब्याज सहित राशि लौटाने को कहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ पारीक/ ईश्वर-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.