डॉ. अशोक गुप्ता को अधीक्षक पद से हटाने पर रोक
डॉ. अशोक गुप्ता को अधीक्षक पद से हटाने पर रोक
राजस्थान

डॉ. अशोक गुप्ता को अधीक्षक पद से हटाने पर रोक

news

जयपुर, 10 सितम्बर (हि.स.)। राजस्थान हाईकोर्ट ने वरिष्ठ बालरोग प्रोफेसर डॉ. अशोक गुप्ता को जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक पद से हटाने के राज्य सरकार के गत 4 सितंबर के आदेश पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही अदालत ने डॉ. गुप्ता को प्रोफेसर और जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक के तौर पर काम करते रहने को कहा है। वहीं अदालत ने मामले में चिकित्सा शिक्षा सचिव, एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल और डॉ. अरविन्द शुक्ला को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। न्यायाधीश एसपी शर्मा ने यह आदेश डॉ. अशोक गुप्ता की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए। याचिका में कहा गया कि राज्य सरकार ने गत 26 जून को एक अधिसूचना जारी कर प्रशासनिक पदों पर लगे चिकित्सा शिक्षकों की नियुक्ति एक साल के लिए बढ़ा दी। वहीं दूसरी ओर चिकित्सा शिक्षा सचिव ने इस अधिसूचना के विपरीत जाकर गत 4 सितंबर को याचिकाकर्ता के स्थान पर डॉ. अरविन्द शुक्ला को जेके लोन अस्पताल का अधीक्षक बना दिया। जबकि 26 जून की अधिसूचना के तहत दूसरे प्रशासनिक पदों पर मेडिकल शिक्षक काम कर रहे हैं। याचिका में कहा गया कि याचिकाकर्ता को अधीक्षक पद से हटाने से पहले याचिकाकर्ता को ना तो कोई नोटिस दिया गया और ना ही अपना पक्ष रखने का मौका दिया गया। ऐसे में चार सितंबर के आदेश को रद्द किया जाए। जिस पर सुनवाई करते हुए एकलपीठ ने संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी करते हुए 4 सितंबर के आदेश की क्रियान्विति पर रोक लगा दी है। हिन्दुस्थान समाचार/ पारीक/ ईश्वर-hindusthansamachar.in