जैसलमेर जिले के तनोट माता मंदिर और रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव की समाधि स्थल के दर्शन श्रद्धालुओं के लिए खुले।
जैसलमेर जिले के तनोट माता मंदिर और रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव की समाधि स्थल के दर्शन श्रद्धालुओं के लिए खुले।
राजस्थान

जैसलमेर जिले के तनोट माता मंदिर और रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव की समाधि स्थल के दर्शन श्रद्धालुओं के लिए खुले।

news

जैसलमेर, 07 सितंबर (हि.स.)। जैसलमेर के दो प्रमुख स्थल तनोट माता मंदिर और रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव की समाधि स्थल श्रद्धालुओं के लिए खुल गए है। राजस्थान के मुख्य मंदिरों में शामिल भारत पाकिस्तान सीमा के नजदीक स्थित तनोट माता मंदिर और भगवान कृष्ण के कलियुगी अवतार माने जाने वाले लोक देवता और जन जन के आराध्यदेव बाबा रामदेव जी की रामदेवरा स्थित समाधि स्थल के कपाट सोमवार कोो ब्रह्म मुहूर्त में श्रद्धालुओं के लिए खुले। कोरोना महामारी के बाद जारी सरकारी गाइडलाइन के अनुसार आज प्रदेश में कई जगहों पर धर्मिकस्थलों को खोला गया है। जिले के दोनों प्रमुख मंदिरों को दर्शनार्थ खोलने से पूर्व उसे पूर्ण रूप से सेनेटाइज किया गया।आज ब्रह्म मुहूर्त में बाबा रामदेव जी की समाधि पर पंचामृत से अभिषेक किया गया और विशेष पूजा अर्चना की गई तथा तनोट माता मंदिर में विशेष पूजा अर्चना के साथ मंदिर आम जन ओर पर्यटकों के लिए खोल दिया है जहां विश्व मे फैली कोरोना महामारी के खात्मे की कामना की गई। रामदेवरा में बाबा के मंदिर की मुख्य प्रोल से श्रद्धालुओ को हाथ धुलाई करवाने के बाद बिना प्रसाद के सामाजिक दूरी की पालना करवाते हुए प्रवेश दिया गया। कर्मचारियों द्वारा परिसर में सरकारी निर्देशों की पालना करते हुए बार बार सेनेटाइज किया जा रहा है। आज बाबा रामदेव जी की समाधि के कपाट खुलने व तनोट माता मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए खोले जाने के बाद देशभर में फैले दोनों मंदिरों के श्रद्धालुओं में ख़ुशी की लहर है। हिंदुस्थान समाचार/चंद्रशेखर/संदीप-hindusthansamachar.in