जनजाति विकास के लिए जोधपुर संभाग में अतिरिक्त आयुक्त का पद सृजित
जनजाति विकास के लिए जोधपुर संभाग में अतिरिक्त आयुक्त का पद सृजित
राजस्थान

जनजाति विकास के लिए जोधपुर संभाग में अतिरिक्त आयुक्त का पद सृजित

news

जयपुर, 14 अक्टूबर(हि.स.)। जोधपुर संभाग में निवास करने वाले जनजाति समुदाय के कल्याण हेतु संचालित विभिन्न योजनाओं के धरातल पर प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जोधपुर संभाग मुख्यालय पर अतिरिक्त आयुक्त (चतुर्थ) के पद का सृजन किया गया है। जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश्वर सिंह ने बताया कि जोधपुर में इस संभागीय कार्यालय की स्थापना से न केवल विभागीय योजनाओं का लाभ जनजाति समुदाय को मिलेगा वन विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों, आश्रम छात्रावासों एवं खेल छात्रावासों के बेहतर संचालन एवं पर्यवेक्षण में मदद मिलेगी। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि जोधपुर संभाग के सिरोही जिला अंतर्गत आबू रोड में एकलव्य मॉडल रेजिडेन्शियल स्कूल, सिरोही जिले के आबू रोड़ एवं सातपुर में एक-एक बालक-बालिका खेल छात्रावास तथा 15 आश्रम छात्रावास संचालित हैं, जबकि पाली में तीन आश्रम छात्रावास, जोधपुर में एक आश्रम छात्रावास तथा जैसलमेर में भी एक आश्रम छात्रावास संचालित हैं, जिनमें कुल मिलाकर लगभग 2200 छात्र-छात्राएं निवासरत एवं अध्ययनरत हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 में बाड़मेर जिला मुख्यालय एवं जालौर जिले के आहोर उपखण्ड मुख्यालय पर बालिका आश्रम छात्रावास की स्वीकृति जारी की जा चुकी है जिसके लिए हाल ही में संभागीय आयुक्त, जोधपुर के विशेष प्रयासों से सिंतबर 2020 में भूमि का आवंटन भी करवा लिया गया है। इन छात्रावासों की निर्माण प्रक्रिया शीघ्र ही प्रारम्भ की जाएगी। सिंह ने बताया कि विश्व आदिवासी दिवस पर नौ अगस्त को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा जोधपुर, बाड़मेर एवं जैसलमेर में एक बालक आश्रम छात्रावास तथा जोधपुर में ट्राइबल यूथ हॉस्टल एवं कैरिअर सेन्टर खोलने की घोषणा की गई है, जिसकी अनुपालना में जेठवाई, जैसलमेर स्थित बालिका छात्रावास को जिला मुख्यालय पर स्थित श्रीमती किशनी देवी, मगनीराम मेहता राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिफ्ट कर वहां बालक आश्रम छात्रावास के इसी शैक्षणिक सत्र से संचालन हेतु वित्त विभाग द्वारा सहमति भी प्रदान कर दी गई है। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ ईश्वर-hindusthansamachar.in