छह जिलों के प्रगतिशील एवं नवाचारी किसानों को दिया जाएगा 'चौधरी चरण सिंह स्मृति उत्कृष्ट किसान पुरस्कार'
छह जिलों के प्रगतिशील एवं नवाचारी किसानों को दिया जाएगा 'चौधरी चरण सिंह स्मृति उत्कृष्ट किसान पुरस्कार'
राजस्थान

छह जिलों के प्रगतिशील एवं नवाचारी किसानों को दिया जाएगा 'चौधरी चरण सिंह स्मृति उत्कृष्ट किसान पुरस्कार'

news

बीकानेर, 23 दिसम्बर (हि.स.)। राजस्थान में बीकानेर स्थित स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय द्वारा प्रगतिशील और नवाचारी किसानों को 'चौधरी चरण सिंह स्मृति उत्कृष्ट किसान पुरस्कार' प्रदान किया जाएगा। यह पुरस्कार विश्वविद्यालय प्रभार वाले छह जिलों के एक-एक किसान को प्रतिवर्ष दिया जाएगा। कुलपति प्रो आर पी सिंह ने बुधवार को प्रदेश के पहले वर्चुअल किसान मेले के दौरान यह जानकारी दी। विश्वविद्यालय द्वारा वर्चुअल किसान मेले के दूसरे दिन को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर 'किसान दिवस' के रूप में मनाया गया। इस दौरान कुलपति ने चौधरी चरण सिंह के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्म दिवस के अवसर पर वर्ष 2001 से 23 दिसम्बर को किसान दिवस के रूप में मनाने की शुरूआत हुई। कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा चौधरी चरण सिंह के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए उनकी स्मृति में यह पुरस्कार प्रारम्भ किया गया है। अगले साल से प्रतिवर्ष यह पुरस्कार मिलेंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय द्वारा तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय कमेटी गठित की गई है। वहीं पुरस्कार के लिए आवेदन संबंधित कृषि विज्ञान केन्द्र के माध्यम से लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू, जैसलमेर और झुंझुनूं जिलों के किसान इस पुरस्कार के आवेदन के लिए पात्र होंगे। इस अवसर पर प्रो सिंह ने किसान मेले की 'ई-स्मारिका' तथा प्रसार शिक्षा निदेशालय की मासिक पत्रिका 'चोखी खेती' के नए अंक का ई.विमोचन किया। किसान मेले के दूसरे दिन तक 2 हजार 700 से अधिक किसानों का पंजीकरण हुआ। इसे फेसबुक और यूट्यूब के माध्यम से बड़ी संख्या में लोगों ने देखा। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/ ईश्वर-hindusthansamachar.in