चूरू में 80 से अधिक गौवंश की दर्दनाक मौत, आला अधिकारी मौके पर
चूरू में 80 से अधिक गौवंश की दर्दनाक मौत, आला अधिकारी मौके पर
राजस्थान

चूरू में 80 से अधिक गौवंश की दर्दनाक मौत, आला अधिकारी मौके पर

news

चूरू, 22 नवम्बर (हि.स.)। जिले के सरदारशहर कस्बे के बिल्यूंबास रामपुरा गांव की श्रीराम गौशाला में अस्सी से अधिक गौवंश की मौत हो गई। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि हमेशा की तरह गौशालाकर्मियों ने शनिवार सुबह गौवंश को चारा डाला तथा पानी पिलाया। दोपहर होने के बाद गौवंश के मुंह से झाग आने लगे तथा जमीन पर गिरने लगी। गौशाला पदाधिकारियों ने बताया कि उपखण्ड अधिकारी रीना छींपा समेत आलाधिकारियों को सूचना दी गयी। तब जाकर चिकित्सकों की टीम मौके पर पहुंची। पूरी रात चिकित्सकों की टीम ग्रामीणों के साथ मिलकर गौवंश को बचाने का प्रयास किया फिर भी 80 से अधिक गौवंश की दर्दनाक मौत हो ही गयी। सूचना मिलने के बाद एसडीएम रीना, सीओ गिरधारीलाल शर्मा, भानीपुरा थानाधिकारी मलकीयत सिंह, तहसीलदार कुटेंद्र कंवर, प्रहलाद पारीक ने पहुंचकर स्थिति की जानकारी दी। दिन भर अधिकारी गौशाला में डटे रहे। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक जगदीशप्रसाद बडबड व नोडल अधिकारी डॉ. केशरीचंद के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम गौवंश को बचाने में जुटी हुई है। एसडीएम रीना ने रविवार को बताया कि मौत के कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है। कुछ गौवंश बीमार भी है। जब तक नियंत्रण नहीं होगा तब तक चिकित्सकों की टीम गौशाला में ही रहेगी। नोडल अधिकारी डा. केशरीचंद ने बताया कि गौवंश को बचाने के लिए सरदारशहर के अलावा तारानगर व चूरू से टीम बुलाई है जो गायों के इलाज में जुट हुई है। प्रथम दृष्टया फूड पॉईजनिंग के कारण गौवंश की मौत होना लग रहा है। पूरा खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद चलेगा। जानकारी के अनुसार गौशाला में 471 गायें है जिसमें से 80 से अधिक गौवंश की मौत हो गयी है और दो दर्जन से अधिक गौवंश बीमार है। हिन्दुस्थान समाचार/नटवर-hindusthansamachar.in