ग्राम पंचायत चुनाव: मतदान के समय मतदाताओं को मास्क लगाना अनिवार्य
ग्राम पंचायत चुनाव: मतदान के समय मतदाताओं को मास्क लगाना अनिवार्य
राजस्थान

ग्राम पंचायत चुनाव: मतदान के समय मतदाताओं को मास्क लगाना अनिवार्य

news

जयपुर, 07 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश की 3848 ग्राम पंचायतों के लिए 28 सितंबर से चार चरणों में होने वाले चुनावों में कोरोना से बचाव के लिए निर्वाचन की प्रत्येक गतिविधि में सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों निर्वाचनकर्मी, मतदाता, चुनाव लडने वाले अभ्यर्थी, पोलिंग एजेंट के साथ साथ मतदान के समय मतदाताओं को मास्क लगाना अनिवार्य होगा एवं समय-समय पर हाथों को सैनेटाइज करना होगा। इसके अलावा प्रशिक्षण स्थल, मतदान केन्द्र एवं मतदान सामग्री संग्रहण स्थल को उपयोग से पूर्व सैनेटाइज करना होगा। कोरोना महामारी के दौरान राज्य निर्वाचन आयोग ने केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी सभी गाइडलाइंस की पालना सुनिश्चित करते हुए ग्राम पंचायतों के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए सोमवार को चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान आयोग पर राज्य के नागरिको को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखते हुए अपने संवैधानिक दायित्व के निर्वहन की बड़ी चुनौती है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना की स्थिति की समय-समय पर समीक्षा की गई। उन्होंने बताया कि कोरोना के लक्षण एवं बचाव के संबंध में केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा गत कई महीनों से विभिन्न माध्यमों से व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जो अभी भी जारी है। केन्द्र और राज्य सरकार के इन प्रयासों से आम जनता कोरोना महामारी के लक्षण एवं बचाव के तरीकों से भलीभांति परिचित हो गई है। इसके साथ-साथ आयोग द्वारा निर्वाचन के विभिन्न स्तर पर कोरोनो से बचाव के लिए विस्तृत दिशानिर्देश भी जारी किए हैं ताकि सभी मतदाता अपने को एवं अन्य को सुरक्षित रखते हुये भयमुक्त होकर मतदान में भाग ले सकें। चुनाव आयुक्त ने बताया कि नामनिर्देशन पत्र प्रस्तुत करते समय अभ्यर्थी के साथ एक ही व्यक्ति को रिटर्निंग अधिकारी के कक्ष में प्रवेश दिया जाएगा। मतदाताओं को मतदान के समय मास्क लगाना अनिवार्य होगा। निर्वाचन लडने वाले अथ्यर्थियों द्वारा चुनाव प्रचार के लिए जुलूस, रैली आदि में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना की गाइडलाइनों का उल्लघंन तत्समय प्रवृत विधि के अनुसार दण्डनीय होगा। मेहरा ने बताया कि 3848 पंचायतों में चुनाव के लिए गठित मतदान केन्द्र पर मतदाताओं की संख्या 1100 से घटाकर 900 कर दी गई, ताकि सोशल डिस्टेसिंग की पालना हो सके। इसके अलावा नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने एवं संवीक्षा के समय में 30 मिनिट की बढ़ोतरी की गई है। वहीं मतदान का समय एक घंटा बढाकर प्रातः 7.30 से सांय 5.30 तक रखा गया है ताकि एक साथ अधिक मतदाता एकत्रित न हो और सभी अपने मतदान के अधिकार का प्रयोग कर सकें। सोशल डिस्टेंसिंग के चलते ही चुनाव चार चरणों में रखा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ईश्वर-hindusthansamachar.in