कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं आई, शाम तक मोर्चरी में रखे रहे दो बुजुर्गों के शव
कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं आई, शाम तक मोर्चरी में रखे रहे दो बुजुर्गों के शव
राजस्थान

कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं आई, शाम तक मोर्चरी में रखे रहे दो बुजुर्गों के शव

news

बूंदी, 30 जुलाई (हि.स.)। जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती दो बुजुर्गों की गुरुवार सुबह मौत होने के बाद उनकी कोरोना संबंधी जांच की रिपोर्ट नहीं आने से शव शाम तक मोर्चरी में रखे रहे। अस्पताल प्रशासन ने बताया कि बूंदी शहर की गुरुनानक कॉलोनी निवासी 94 वर्षीय महिला को श्वास संबंधी परेशानी होने के कारण बुधवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके फेफड़े सही तरीके से काम नहीं कर रहे थे ऐसे में उसे श्वांस लेने में दिक्कत आ रही थी। इस पर महिला को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर उपचार किया जा रहा था। साथ ही चिकित्सकों ने कोरोना जांच के लिए सैम्पल लेकर भेजा हुआ था जिसकी रिपोर्ट गुरुवार शाम तक नहीं आई। इससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया। ऐसे में अस्पताल प्रशासन ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया है। वहीं दूसरी ओर शहर के ही घसियारा मोहल्ला सब्जी मंडी निवासी 65 वर्षीय पुरुष को बीपी व शुगर संबंंधी पुरानी बीमारी के चलते तबीयत बिगडऩे पर परिजनों द्वारा बुधवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन उनकी भी गुरुवार सुबह मौत हो गई। इनका भी भर्ती होने के साथ ही कोरोना जांच संबंधित सैम्पल लिया गया था। दोनों बुजुर्गों के सैम्पल जांच के लिए कोटा भेजे गए थे लेकिन गुरुवार शाम तक इनकी रिपोर्ट नहीं आई। ऐसे में अस्पताल प्रशासन ने ऐहतियात बरतते हुए फिलहाल शवों को मोर्चरी में रखवाया है। पीएमओ डॉ. प्रभाकर विजय ने बताया कि रिपोर्ट आने के बाद ही शव सुपुर्दगी के बारे में निर्णय लिया जाएगा। उधर, दोनों मृतक बुजुर्गों के परिजन पूरे दिन मोर्चरी परिसर के आसपास ही मौजूद रहकर रिपोर्ट आने का इंतजार करते रहे। परिजनों का कहना है कि अस्पताल प्रशासन की ओर से ऐसे मामले को प्राथमिकता से लेकर रिपोर्ट मंगवानी चाहिए लेकिन यहां ऐसा नहीं हुआ। हिन्दुस्थान समाचार/रवि कसेरा/ ईश्वर-hindusthansamachar.in