कपास की फैक्ट्री में लगी भीषण आग
कपास की फैक्ट्री में लगी भीषण आग
राजस्थान

कपास की फैक्ट्री में लगी भीषण आग

news

जोधपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। जिले के पूनासर कस्बे में रविवार को जिनिंग कम्पनी में अचानक आग लग जाने से अफरा-तफरी मच गई। कम्पनी में लगे कपास के ढेर में से अचानक धुआं निकलता देख कर्मचारी व आसपास के लोग दौडक़र आग बुझाने आए तब तक आग की लपटों ने कपास को चारों से घरे लिया। इसी दरम्यान पास ही के नलकूप मालिकों ने नलकूप से पाइपलाइन जोडक़र आग पर काबू पाने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने बताया कि आग लगने से थोड़ी देर पूर्व ही किसान अपने ट्रैक्टर से कपास तुलवा करके रवाना हुए थे लेकिन कुछ ही देर बाद अचानक आग लग गई और समर्थन मूल्य पर खरीद किए गए कपास में से काफी कपास जलकर राख हो गया। आग लगने से कम्पनी के पास ही करीब तीन-चार क्रेशर मशीनों के मालिकों के भी हाथ पांव फूल गए और आग बुझाने में मदद की। क्रेशर संचालकों को डर था कि कहीं आग हमारे क्रेशर तक भी नहीं पहुंच जाए। आग बुझाने के उपकरण नहीं : बताया जाता है कि किसानों का सर्मथन मूल्य पर कपास तुलाई हो रहा था। एक चिंगारी से कुछ भी हो सकता है लेकिन कम्पनी मालिक के पास आग बुझाने का कोई भी उपकरण नहीं दिख रहा था। वह आग लगते ही सीधे किसानों के पास ही दौड़ कर गए लेकिन खुद के पास कोई उपकरण नहीं था। वहीं केवल उसी कपास में आग लगी जो किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया था ऐसे कम्पनी के संचालनकर्ताओं पर ग्रामीणों ने संदेह व्यक्त किया गया। वहां मौजूद किसानों में से कई किसानों ने वहां कपास तो तुलवा दिया था लेकिन अभी तक कम्पनी संचालकों ने बिल नहीं दिए जिससें किसानों को चिंता सताने लगी है। वहां मौजूद किसानों का कहना था कि कम्पनी में काम करने वाले एवं संचालन करने वाले दोनों ही लापरवाहीपूर्वक ही कार्य करते है। ना तो किसानों को सर्मथन मूल्य पर तुलाई होते ही बिल देते है तथा ना ही तौल बताते है। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/संदीप-hindusthansamachar.in