उदयपुर: 5 पंचायत समितियों में प्रथम चरण का मतदान आज
उदयपुर: 5 पंचायत समितियों में प्रथम चरण का मतदान आज
राजस्थान

उदयपुर: 5 पंचायत समितियों में प्रथम चरण का मतदान आज

news

उदयपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। उदयपुर जिले में पंचायत चुनाव 2020 के प्रथम चरण में झाड़ोल, फलासिया, कोटड़ा, सायरा व गोगुन्दा पंचायत समिति में जिला परिषद सदस्य एवं पंचायत समिति सदस्यों के मतदान के लिए मतदान दल रविवार को अंतिम प्रशिक्षण प्राप्त कर रवाना हुए। इन पंचायत समितियों में मतदान सोमवार को सुबह 7.30 बजे से शाम 5 तक होगा। पंचायत समिति फलासिया व झाड़ोल के लिए राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय में तथा कोटड़ा, सायरा व गोगुन्दा के लिए सामाजिक एवं मानविकी महाविद्यालय में दक्ष प्रशिक्षकों द्वारा मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण पश्चात मतदान दल मतदान संबंधी समस्त सामग्री प्रशिक्षण स्थल पर नियत किए गए काउन्टर से प्राप्त कर निर्धारित वाहन द्वारा अपने गंतव्य को रवाना हुए। दोनों प्रशिक्षण स्थलों पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम प्रशासन) ओ.पी.बुनकर ने मतदान करवाने जा रहे सभी अधिकारियों-कार्मिकों को निर्वाचन विभाग की गाइडलाइन के अनुसार सम्पूर्ण प्रक्रिया सम्पादित करने एवं मतदान केन्द्रों पर कानून व व्यवस्थाएं बनाए रखने के निर्देश दिए। मतदान दलों के कार्मिकों को कोविड-19 से बचाव के लिए निर्धारित गाइडलाइन की पूर्ण पालना करने के निर्देश दिये। प्रशिक्षण स्थल पर प्रशिक्षण प्रभारी प्रदीप सिंह सांगावत और एनआईसी के जितेन्द्र वर्मा व मजहर हुसैन ने भी मतदान संबधी आवश्यक जानकारी दी। दक्ष प्रशिक्षक डॉ. महामाया प्रसाद चैबीसा, नवनीत मेहता व अशोक व्यास ने मतदान दलों को मतदान प्रक्रिया, मॉकपोल, मशीन सीलिंग, ईवीएम सीलिंग, काउन्टर पर जमा होने वाली सामग्री से संबंधी निर्देशों सहित विस्तृत प्रशिक्षण दिया। उन्होंने बताया कि ये मतदान दल निर्धारित ग्राम पंचायत मुख्यालय पर स्थित मतदान केन्द्र पर पहुंचकर निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशानुसार मतदान संबंधी तैयारियां एवं आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे। मतदान के लिए पहचान पत्र जरूरी मतदाताओं को मतदान के लिए पहचान पत्र या मतदान के लिए अधिकृत आवश्यक दस्तावेज साथ लाना होगा। 400 वाहनों का उपयोग वाहन प्रकोष्ठ प्रभारी एवं डीटीओ डॉ.कल्पना शर्मा ने बताया कि इन पंचायत समितियों की विभिन्न ग्राम पंचायतों में जाने के लिए लगभग 400 वाहन की व्यवस्था की गई। इनमें 250 वाहन मतदान दलों के लिए, 101 वाहन सेक्टर ऑफिसर के लिए, 10 वाहन ईवीएम के लिए तथा 5 वाहन तकनीकी टीम को उपलब्ध करवाए गये तथा शेष वाहन अन्य व्यवस्थाओं के लिए लगाए गए। प्रशिक्षण स्थल से रवानगी स्थल तक मतदान दलों के आवागमन के लिए भी मिनी बसों की व्यवस्था की गई। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल / ईश्वर-hindusthansamachar.in