उदयपुर में बिहारी समाज ने उगते सूर्य को दिया अर्घ्य
उदयपुर में बिहारी समाज ने उगते सूर्य को दिया अर्घ्य
राजस्थान

उदयपुर में बिहारी समाज ने उगते सूर्य को दिया अर्घ्य

news

उदयपुर, 21 नवम्बर (हि.स.)। उदयपुर की प्रसिद्ध फतहसागर झील किनारे शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ्य अर्पित करने के साथ ही लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा का समापन हो गया। चार दिवसीय महापर्व के दौरान उदयपुर में बसा बिहारी समाज भगवान भास्कर की आराधना में लीन रहा। कोरोना के कारण फतहसागर पर ज्यादा संख्या नहीं रही। जो भी श्रद्धालु पहुंचे, उन्होंने निर्धारित दूरी बनाए रखते हुए पूजा का क्रम पूरा किया। शनिवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य अर्पित कर व्रतियों ने 36 घंटे के निर्जला उपवास को समाप्त किया। कई परिवारों ने घरों पर ही सूर्यदेव को अर्घ्य अर्पित करने की परम्परा निभाई। छत पर ही सरोवर की मान्यता से कुण्ड बनाया गया और पूजा उसी में सम्पन्न की गई। इससे पहले शुक्रवार की शाम को छठ घाटों पर व्रतियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पित किया। अर्घ्य के दौरान व्रतधारी महिला-पुरुष जल में काफी देर तक हाथ जोड़े खड़े रह कर सूर्य की आराधना की और अस्तचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पण किया। अर्घ्य अर्पित करने के बाद घाटों पर सुहागिन महिलाओं ने एक-दूसरे को सिंदूर लगाकर आशीर्वाद प्राप्त किया। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल / ईश्वर-hindusthansamachar.in