उदयपुर में कंगना के समर्थन में महाराष्ट्र सरकार का पुतला जलाया
उदयपुर में कंगना के समर्थन में महाराष्ट्र सरकार का पुतला जलाया
राजस्थान

उदयपुर में कंगना के समर्थन में महाराष्ट्र सरकार का पुतला जलाया

news

उदयपुर, 11 सितम्बर (हि.स.)। ‘नारी शक्ति का अपमान - नहीं सहेगा हिंदुस्थान’ नारे के साथ उदयपुर में फिल्म अभिनेत्री कंगना राणावत के समर्थन में नारे लगाए गए और महाराष्ट्र सरकार का पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया। आपको बता दें कि कंगना राणावत का उदयपुर से भी जुड़ाव है। उदयपुर के जगत कस्बे में स्थित प्राचीन अम्बिका माता का मंदिर है जिसे कंगना का परिवार अपनी कुलदेवी का स्थल मानता है। बजरंग सेना मेवाड़, श्री राजपूत करणी सेना, मेवाड़ क्षत्रिय महासभा संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में शुक्रवार दोपहर नगर निगम पार्किंग के बाहर महाराष्ट्र सरकार का प्रतीकात्मक पुतला बनाकर उसका दहन किया गया और नारे लगाए गए। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में युवा और महिलाएं भी मौजूद थीं। सभी ने कहा कि भारतवर्ष नारी शक्ति के सम्मान के रूप में जाना जाता है। सत्य का साथ देने वाली और फिल्म इंडस्ट्री में हिंदुत्व को दबाने की बात उजागर करने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत (राणावत) का मेवाड़ पूरा समर्थन करता है। उन्होंने बताया कि कंगना का पारिवारिक इतिहास मेवाड़ से भी जुड़ा है। कंगना के परिवार की कुलदेवी उदयपुर के जगत (कुराबड़) में स्थित प्राचीन अम्बिका माता मंदिर में स्थापित माता अम्बिका है और यह मंदिर 1100 साल पुराना है। इसी मंदिर की प्रेरणा लेकर सिरोही से माता की प्रतिमा बनवाकर हिमाचल अपने गांव भिजवा कर वहां मंदिर बनवाया। वक्ताओं ने बताया कि अगर जरूरत पड़ी तो मेवाड़ से सैकड़ों की संख्या में लोग महाराष्ट्र कूच करेंगे। संगठनों के पदाधिकारियों ने महाराष्ट्र सरकार को तुरंत बर्खास्त करने की मांग करते हुए कहा कि पालघर में साधु संतों की हत्या के मामले का भी आज तक पूरी तरह से खुलासा नहीं हो पाया। यह सरकार अपनी छोटी मानसिकता के चलते किसी को भी परेशान कर सकती है। प्रदर्शन में बजरंग सेना मेवाड़ के संस्थापक कमलेंद्र सिंह पंवार, श्री राजपूत करणी सेना के जिलाध्यक्ष देवेंद्र नाथ सिंह फलीचड़ा, मेवाड़ क्षत्रिय महासभा संस्थान के अध्यक्ष चंद्रवीर सिंह करेलिया सहित संगठन के संभागीय अध्यक्ष सुनील कालरा, संभागीय प्रभारी करणवीर सिंह राठौड़, महानगर अध्यक्ष गोविंद सिंह चौहान आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल / ईश्वर-hindusthansamachar.in