उत्तरी भारत में हिमपात के असर से माउंट आबू जमाव बिन्दु पर
उत्तरी भारत में हिमपात के असर से माउंट आबू जमाव बिन्दु पर
राजस्थान

उत्तरी भारत में हिमपात के असर से माउंट आबू जमाव बिन्दु पर

news

जयपुर, 22 नवम्बर (हि. स.)। उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी का असर अब राजस्थान के मौसम में बदलाव ला रहा है। प्रदेश के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू में पारा जमाव बिंदु के करीब पहुंच गया है। मौसम विभाग के मुताबिक बीती रात के न्यूनतम तापमान में गिरावट से तापमान जमाव बिंदु पर रहा, वही अधिकतम तापमान 20 डिग्री दर्ज किया गया। पारा गिरने से अलसुबह घरों और होटलों के बाहर खड़ी कारों के साथ मैदानी इलाकों में हल्की बर्फ की परत जमी रही। सर्दी से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया, तो स्थानीय लोग और सैलानी गर्म कपड़ों में लिपटे रहे। पिछले कई सालों से माउंट आबू में जमाव बिंदु और बर्फ जमने का समय दिसम्बर में होता है, लेकिन इस वर्ष नवम्बर में ही सर्दी ने अपने तीखे तेवर दिखाना शुरू कर दिया है। देश के उत्तर-पूर्वी भागों में हो रहे हिमपात के असर से माउंट आबू में बीते पांच दिनों से निरंतर पारा तापमापी में लुढक़ रहा है। परिणाम यह है कि अब यहां कड़ाके की कंपकंपाने वाली ठंड शुरू हो चुकी है। ठंड का असर इतना है कि माउंट आबू में अलसुबह सैलानियों को केवल आग तापने के अलावा कहीं राहत मिल ही नहीं पाती। सुबह की सैर के लिए निकलने वाले लोग भी गर्म कपड़ों में लिपटे हुए बाहर निकल रहे हैं। मावठ के बाद राजस्थान के तापमान में गिरावट का दौर जारी है। प्रदेश के कई जिलों में कड़ाके की सर्दी से मौसम ठंडा हो रहा है। प्रदेश के दस से ज्यादा जिलों में अब रात का पारा 10 डिग्री के आसपास दर्ज किया जा रहा है। प्रदेश में लगातार मौसम ठंडा हो रहा है। उत्तरी हवा के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक नवंबर के महीने में पांच साल बाद तीसरे दिन भी माउंट आबू में रात का पारा 1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तेज सर्दी से यहां जनजीवन भी अस्त-व्यस्त हो रहा है। सर्दी से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। माउंट आबू के बाद प्रदेश के फतेहपुर में भी ठंड का असर लगातार देखने को मिल रहा है। बीते 24 घंटे में रविवार सुबह तक राजधानी जयपुर के तापमान में तीन डिग्री की गिरावट देखने को मिली। जयपुर का तापमान 9.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं चूरू का 5, श्रीगंगानगर का 8.8, भीलवाड़ा का 6.5, सीकर का 5.5, डबोक का 8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। नवंबर की शुरुआत के साथ ही प्रदेश में विभिन्न जगहों पर अधिकतम तापमान 35 डिग्री के आसपास दर्ज किया जा रहा था, अब इसमें भी कमी आ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप-hindusthansamachar.in