ई-रिक्शा को टक्कर से महिला की मौत, कस्बेवासी सीएचसी में धरने पर बैठे
ई-रिक्शा को टक्कर से महिला की मौत, कस्बेवासी सीएचसी में धरने पर बैठे
राजस्थान

ई-रिक्शा को टक्कर से महिला की मौत, कस्बेवासी सीएचसी में धरने पर बैठे

news

सीकर, 16 अक्टूबर (हि. स.)। खाटूश्यामजी कस्बे में रींगस रोड स्थित श्री धार्मिक निष्काम सेवा ट्रस्ट धर्मशाला के सामने एक अज्ञात वाहन ने ई-रिक्शा को टक्कर मार दी। हादसे में एक महिला की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 9 अन्य लोग घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हादसे के बाद थाना पुलिस के मौके पर नहीं पहुंचने से गुस्साए परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। कस्बेवासी सीएचसी में ही धरने पर बैठ गए। हादसा गुरुवार देर शाम हुआ, जबकि कस्बेवासियों का धरना व प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी रहा। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि अज्ञात वाहन चालक को गिरफ्तार करने के साथ मामले को रींगस थाने का बताकर घटना स्थल से वापस लौटने वाले दोषी पुलिसकर्मियो के खिलाफ कार्रवाई की जाए। मांग नहीं माने जाने तक प्रदर्शनकारी उठने को तैयार नहीं है। खाटूश्यामजी का एक परिवार आभावास में तिलक समारोह में शामिल होकर गुरुवार शाम ई-रिक्शाा से वापस लौट रहा था। इसी दौरान चौमूं पुरोहितान के पास जीप ने रिक्शे को पीछे से टक्कर मार दी। इसमें मीरा देवी वर्मा की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि, 9 लोग घायल हो गए थे। घटना के बाद वाहन चालक फरार हो गया। पुलिस के अनुसार खाटूश्यामजी के वार्ड 10 की मीरा देवी वर्मा (56) पत्नी कुरड़ाराम, माया देवी, कमलेश देवी, सोहन, राहुल, हरीश, चालक धोलूराम गवारिया, किशनलाल नायक (17), सुंडाराम (15), सीताराम उर्फ फत्तुराम (45) गुरुवार को आभावास में अपने रिश्तेदार के यहां तिलक कार्यक्रम में ई-रिक्शा लेकर गए थे। देर शाम लौटते समय चौमूं पुरोहितान के आगे निकलते ही एक अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। इनमें से मीरा देवी की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि, चालक धोलूराम, माया देवी और सीताराम के गंभीर चोट लगने से उन्हें सीकर रैफर कर दिया गया। शेष घायलों का प्राथमिक उपचार कर छुट्टी दे दी गई। घटना के बाद खाटू पुलिस की कार्यशैली पर नाराजगी जाहिर करते हुए मृतका और घायलों के परिजन और वार्ड के लोग खाटू सीएचसी परिसर में धरने पर बैठ गए। परिजनों ने बताया कि घटना के समय खाटू पुलिस की गाड़ी मौके पर पहुंची। मगर घायलों को ले जाने के बजाय रींगस पुलिस की सीमा की बात कहकर वहां से चले गए। परिजनों ने आरोप लगाया कि पुलिस अगर अपनी जिम्मेदारी निभाती तो महिला को समय पर ईलाज मिल जाता तो उसकी मौत नहीं होती। आरोपित चालक की गिरफ्तारी व दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शनकारियों का खाटूश्यामजी सीएचसी पर शुरू हुआ धरना शुक्रवार को भी जारी रहा। प्रदर्शनकारी अब भी अपनी मांग पर अड़े हैं। इसके बाद ही शव का पोस्टमार्टम करने की बात कह रहे हैं। रींगस सीआई रघुवीर शरण व थानाप्रभारी पूजा पूनियां सहित प्रशासनिक अधिकारी प्रदर्शनकारियों को समझाने में जुटे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप-hindusthansamachar.in