इंटरनेशनल फार्मा ई-टेक फेस्ट 19 सितंबर से
इंटरनेशनल फार्मा ई-टेक फेस्ट 19 सितंबर से
राजस्थान

इंटरनेशनल फार्मा ई-टेक फेस्ट 19 सितंबर से

news

फार्मा थीम पर पांच वर्चुअल स्पर्धाओं में भाग ले सकते हैं विद्यार्थी - कोटा, 17 सितम्बर (हि.स.)। ‘आत्मनिर्भर भारत’ मिशन के तहत ऑपरेन्ट फॉर्मेसी फेडरेशन (ओपीएफ) द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रोफेशनल, इनोवेशन व टेक्नोलॉजी की पेटेंट सुरक्षा पर आगामी 19 से 25 सितंबर तक ‘इंटरनेशनल फार्मा ई-टेक फेस्ट’ आयोजित किया जायेगा। ओपीएफ के संस्थापक निदेशक विक्रम चौधरी ने गुरूवार को एक वेबिनार में बताया कि एडवांस रिसर्च इन फार्मास्यूटिकल एवं बायोलॉजिकल के तत्वावधान में ‘फार्मानेन्सिया 2.ई-2020’ में स्वास्थ्य प्रणाली में दुनिया में हो रहे नवाचार, टेक्नोलॉजी व नये टेªंडस को प्रोत्साहित किया जायेगा। इसकी पांच स्पर्धाओं में प्रतिभागियों को 3.51 लाख रूपये के नकद पुरस्कार दिये जायेंगे। ई-टेेक फेस्ट समिति के संरक्षक इंटीग्रो फार्मा लि.,बांग्लादेश के सीईओ डॉ.जरीन डेलावर हुसैन, फार्मा कंसलटेंट एवं इन्वेस्टर्स के निदेशक डॉ.संजय अग्रवाल एवं ऑपरेन्ट फॉर्मेसी फेडरेशन के निदेशक विक्रम चौधरी ने बताया कि फार्मास्यूटिकल साइंस के डेवलपमेंट पर ऐसा अंतरराष्ट्रीय लर्निंग प्लेटफॉर्म तैयार किया जा रहा है, जिससे फॉर्मेसी विद्यार्थी, अकादमिक स्कॉलर एवं उद्योगों के विशेषज्ञ परस्पर संवाद कायम कर स्टार्टअप के लिये प्रोत्साहित हो सकें। ‘फार्मानेंसिया 2.ई 2020’ के आयोजन सचिव मई नी चुई एवं श्वेता मित्तल ने बताया कि इस वर्चुअल ई-प्लेटफॉर्म पर कोविड-19 महामारी को लेकर जनस्वास्थ्य व सुरक्षा संबंधी मापदंडों पर सुझाव भी दे सकते सकते हैं। इस अंतरराष्ट्रीय आयोजन में देश-विदेश से स्वास्थ्य सेवाआंे से जुडे़ 15 से अधिक विशेषज्ञ भाग ले रहे हैं। इसके तहत ब्लॉग लेखन, पोस्टर प्रजेंटेशन, क्विज, डिबेट आदि प्रतियोगिताओं में प्रतिभागी अपने टेलेंट को प्रदर्शित कर सकते हैं। इन स्पर्धाओं मे दिखायें टेलेंट -- स्पर्धा प्रमुख श्रेया शिरोडकर ने बताया कि फार्मास्यूटिकल रिसर्च एवं डेवलपमेंट थीम पर दो भाग में ई-क्विज स्पर्धा होगी। इस स्पर्धा के प्रथम चरण में 21 सितंबर को 60 मिनट में 60 प्रश्न पूछे जायेंगे। सभी प्रतिभागी भाग ले सकते हैं। इसमें 70 प्रतिशत से अधिक स्कोर करने वाले 24 सितंबर को दूसरे चरण में शामिल होंगे। कॉर्डिनेटर अमिशा गुप्ता व सुरभि शाक्य ने बताया कि ‘हैल्थ टू रिसर्च’ पर 1200 से 1500 शब्दों में ‘ब्लॉग’ लिखकर 22 सितंबर तक भेज दें। प्रतिभागी को 21 सितंबर को टॉपिक दिया जायेगा। इसी तरह, ‘विडियो मेकिंग’ स्पर्धा में 5 सदस्यों की टीम किसी टॉपिक पर विडियो बनाकर 21 सितंबर तक प्रस्तुत करेंगे। ओपीएफ को अंतरराष्ट्रीय मान्यता -- आईपी मोमेंट के निदेशक डॉ.परेश कुमार दवे के अनुसार, ओपीएफ ऐसा वैज्ञानिक समुदाय है जिसे बायोमेडिकल एवं फार्मा स्टडी के लिये अंतरराष्ट्रीय मान्यता है। इसका उद्देश्य वैश्विक स्वास्थ्य सेवाओं में भारतीय फॉर्मेसी एवं बायोमेडिकल को पहचान दिलाना है। ओपीएफ मुख्यतः रिसर्च, वेलनेस व कम्यूनिटी फार्मेसी पर फोकस करता है। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद/ ईश्वर-hindusthansamachar.in