मामला गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूप गुम होने का---- अकाल तख्त जत्थेदार ने पूर्व जज को सौंपी जांच
मामला गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूप गुम होने का---- अकाल तख्त जत्थेदार ने पूर्व जज को सौंपी जांच
पंजाब

मामला गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूप गुम होने का---- अकाल तख्त जत्थेदार ने पूर्व जज को सौंपी जांच

news

तेलंगाना हाईकोर्ट के वकील होंगे जांच समीति के सदस्य चंडीगढ़, 17 जुलाई (हि.स.)। शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अधीन कार्यरत गोल्डन ऑफसेट प्रेस से गुरु ग्रंथ साहिब के 267 स्वरूप गायब होने को लेकर छिड़े विवाद को थामने का प्रयास करते हुए अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने हाईकोर्ट की पूर्व न्यायाधीश से इस मामले की जांच करवाने के आदेश जारी कर दिए हैं। अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने शुक्रवार को जारी जानकारी में बताया कि एसजीपीसी की बैठक में पास किए गए प्रस्ताव के अनुसार इस समूचे घटनाक्रम की जांच पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट की सेवानिवृत्त न्यायाधीश नविता सिंह को सौंपी गई है। तेलंगाना हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता ईशर सिंह उनके सहयोगी के रूप में जांच समीति में काम करेंगे। इसके अलावा अकाल तख्त साहिब व एसजीपीसी के पूर्व तथा मौजूदा कर्मचारी व अधिकारी भी इस कमेटी का सहयोग करेंगे। जांच कमेटी एक माह के भीतर-भीतर अकाल तख्त साहिब के समक्ष अपनी जांच रिपोर्ट देगी। इसके बाद अगली कार्रवाई की जाएगी। ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने बताया कि बहुत जल्द पांचों सिंह साहिबानों के साथ विचार विमर्श करके अकाल तख्त साहिब द्वारा अपना एक डिजीटल मंच उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद युवाओं, विधवा महिलाओं, किसानों, मजदूरों, दुकानदारों तथा सिख धर्म में दबे-कुचले वर्ग के लोगों की मदद के लिए सिख बुद्धिजीवियों, पूर्व बैंकरों, वकीलों, चिकित्सकों तथा आईएएस अधिकारियों की एक कमेटी के माध्यम से फंड का गठन किया जाएगा। जिससे समय आने पर उनकी मदद की जा सके। हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/ नरेंद्र जग्गा-hindusthansamachar.in