Farmers should be empowered to make laws related to agriculture, Muslim leaders demand
Farmers should be empowered to make laws related to agriculture, Muslim leaders demand
पंजाब

कृषि संबंधी कानून बनाने का अधिकार किसान समीतियों को दिया जाए,मुस्लिम नेताओं की मांग

news

लुधियाना,, 29 दिसंबर (हि.स) भारत के स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेजों के खिलाफ वर्षों तक आंदोलन चलाने वाली स्वतंत्रता सेनानियों की पार्टी मजलिस अहरार इस्लाम हिंद के आज 91वें स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी की अध्यक्षता में एक प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार से मांग की है कि कृषि संबंधी कोई भी कानून बनाने का अधिकार देश की किसान समीतियों को दिया जाए। वर्णनयोग है कि अंग्रेज सरकार के खिलाफ जन आंदोलन करते हुए समय-समय पर दो लाख अहरार कार्यकर्ता गिरफतार हुए थे और अहरार पार्टी के नेताओं ने देश की आजादी के समय विभाजन की मुखालफत करते हुए पाकिस्तान बनाने का विरोध किया था । मंगलवार को लुधियाना जामा मस्जिद में हुए स्थापना समारोह को संबोधित करते हुए शाही इमाम ने कहा की देश का किसान अपनी मर्जी का कानून चाहता है। स्वतंत्रता संग्राम में भी किसानों ने बड़ा योगदान डाला था। केंद्र सरकार को चाहिए के एक विशेष अध्यादेश द्वारा देश भर की किसान समितियों का एक आयोग स्थापित करके किसान संबंधी सभी कानून बनाने का अधिकार किसानों को ही दे। मौलाना ने कहा कि किसानों का आंदोलन किसी धर्म विशेष का नहीं हमारे अपने देश की मिट्टी का आंदोलन है इसको कोई आम धरना प्रदर्शन ना समझ कर केंद्र सरकार आदर के साथ समाप्त करवाने की पहल करें। शाही इमाम ने कहा की आज समय आ गया है कि देश में उन गद्दारों को भी बेनकाब किया जाए जो कि देश विरोधी ताक़तों के गुलाम बने हुए । इस अवसर पर नायब शाही इमाम मौलाना मुहममद उस्मान लुधियानवी, गुलाम हसन कैसर, मौलाना आरिफ कासमी, कारी मुहममद मोहतरम, मुहममद मुस्तकीम ने भी संबोधन किया हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश गौतम /नरेन्द्र जग्गा-hindusthansamachar.in