congress-is-also-in-possession-of-mohali-municipal-corporation
congress-is-also-in-possession-of-mohali-municipal-corporation
पंजाब

मोहाली नगर निगम पर भी कांग्रेस का कब्जा

news

अकाली-भाजपा व आप का नहीं खुला खाता आजाद ग्रुप के मुखिया पूर्व मेयर भी हारे चंडीगढ़,18 फरवरी (हि़स़)। पंजाब में स्थानीय निकाय चुनाव के दौरान एक तरफा जीत हासिल करने वाली सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने मोहाली नगर निगम पर भी कब्जा का लिया है। पुनर्मतदान के कारण बुधवार को मोहाली नगर निगम में मतगणना नहीं हो सकी थी। मोहाली नगर निगम के 50 वार्डों में कुल 260 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। इस चुनाव में कांग्रेस का नेतृत्व राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बलवीर सिद्धू ने किया तो अकाली दल प्रत्याशियों की चुनावी रणनीति का जिम्मा पूर्व सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने संभाला हुआ था। आम आदमी पार्टी ने चुनाव से पहले पूर्व मेयर कुलवंत सिंह के साथ गठबंधन करके आजाद ग्रुप के बैनर चुनाव लड़ा था। कांग्रेस ने यहां चुनाव से पहले ही स्वास्थ्य मंत्री बलवीर सिद्धू के भाई अमरजीत सिद्धू को मेयर प्रत्याशी के रूप में प्रोजैक्ट किया था। चुनाव जीतने के बाद अमरजीत सिंह जीती का मेयर बनना लगभग तय माना जा रहा है। गुरुवार को घोषित हुए चुनाव परिणाम में शिरोमणि अकाली दल व भारतीय जनता पार्टी एक भी सीट पर अपना खाता नहीं खोल सके हैं। यहां के कुल 50 वार्डों में से सत्तारूढ़ कांग्रेस को 37 सीट पर जीत हासिल हुई है। मोहाली में लंबे समय तक परिषद प्रधान व मेयर रहे कुलवंत सिंह के नेतृत्व वाली आजाद ग्रुप को केवल 11 सीटों पर जीत हासिल हुई है। इसके अलावा 02 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। मोहाली नगर निगम में जहां आम आदमी पार्टी को पूर्व मेयर गुट के साथ गठबंधन का कोई लाभ नहीं हुआ है वहीं आजाद ग्रुप के मुखिया व पूर्व मेयर कुलवंत सिंह चुनाव हार गए हैं। वे वार्ड 42 से उम्मीदवार थे। वे 267 वोटों से हारे। वार्ड नंबर 38 से उनके बेटे ने कांग्रेस के उम्मीदवार को हराकर जीत दर्ज की है। हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/नरिंदर जग्गा-hindusthansamachar.in