will-not-cut-anyone39s-electricity-connection---deputy-chief-minister-ajit-pawar
will-not-cut-anyone39s-electricity-connection---deputy-chief-minister-ajit-pawar
महाराष्ट्र

नहीं कटेंगे किसी के बिजली कनेक्शन ः- उपमुख्यमंत्री अजीत पवार

news

मुंबई, 02 मार्च (हि.स.)। किसानों के कृषि पंपों और उपभोक्ताओं के बकाए बिजली बिल को लेकर विधानमंडल में चर्चा होने तक किसी का बिजली कनेक्शन नहीं काटा जाएगा। यह घोषणा उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने मंगलवार को महाराष्ट्र विधानमंडल के दोनों सदनों में की। बकाए बिजली बिल के भुगतान और ज्यादा बिजली बिल भेजे जाने के मुद्दो को लेकर भाजपा के सदस्यों ने दोनों सदनों में हंगामा किया। इससे पहले सदन की कार्यवाही शुरु होने से पहले भाजपा विधायकों ने विधान भवन की सीढियों पर विरोध प्रदर्शन किया। बिजली बिल का भुगतान न करने पर ग्राहकों के कनेक्शन काटे जाने मुद्दा भाजपा विधायकों ने उठाया। विधान सभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने नियम 57 के तहत इस मुद्दे को उठाया। भाजपा विधायक ज्यादा बिजली बिल को मुद्दे को लेकर आक्रामक हो गए। वे बैनर लेकर वेल में आ गए और नारेबाजी करने लगे। फडणवीस ने कहा कि बिजली बिल पर चर्चा होनी चाहिए। अन्य सभी विषयों को अलग रखकर पहले इस मसले पर चर्चा हो। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में लघू व मध्यम कारोबारियों की दुकानें बंद थी। कई लोगों के रोजगार बंद थे। एेसे में लोग भारी-भरकम बिजली बिल का भुगतान कैसे कर पाएंगे। उन्होंने मांग की जिन लोगों के बिजली कनेक्शन काटे गए हैं, उनके कनेक्शन फिर से जोड़े जाएं। इधर विधान परिषद में भी भाजपा सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। जिसके चलते सदन का कामकाज 20 मिनट के लिए रोकना पड़ा। आखिरकार उप मुख्यमंत्री ने दोनों सदनों को आश्वस्त किया कि इस सन्दर्भ में पहले चर्चा होगी फिर निर्णय होगा। उन्होंने कहा कि सरकार दोनों सदनों में बिजली बिलों के बकाए पर चर्चा के लिए तैयार है। जब तक चर्चा नहीं हो जाती है। तब तक राज्य में कृषि पंपों और उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति कट नहीं की जाएगी। उप मुख्यमंत्री पवार ने कहा कि राज्य में बिजली बिल बकाए पर चर्चा के लिए एक विशेष बैठक आयोजित की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ विनय