नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नाम को लेकर मचा घमासान

नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नाम को लेकर मचा घमासान
ruckus-over-the-name-of-navi-mumbai-international-airport

मुंबई, 04 मई (हि.स.)। नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नामकरण बालासाहेब ठाकरे के नाम पर करने से संबंधित प्रस्ताव राज्य सरकार के पास भेजे जाने के बाद से स्थानीय नागरिक आक्रोशित हैं। स्थानीय लोगों की मांग है कि इस एय़रपोर्ट का नाम पूर्व सांसद डीबी पाटिल के नाम पर होना चाहिए। इसको लेकर मंगलवार को स्थानीय लोगों ने विभिन्न राजनीतिक दलों की बैठक बुलाकर इस एयरपोर्ट को स्व. डीबी पाटिल का नाम देने से संबंधित प्रस्ताव पास किया। स्थानीय लोगों ने कहा कि इस प्रस्ताव को जल्द ही सिडको और राज्य सरकार के पास भेजा जाएगा। यदि सरकार नहीं मानती है तो हम आंदोलन से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस बैठक में नेताओं ने कहा कि स्थानीय किसानों के लिए अपना पूरा जीवन लगा देने वाले डीबी पाटिल का नाम ही इस एयरपोर्ट के लिए उचित है। इससे संबंधित एक प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास किया गया। बैठक में पूर्व सांसद रामशेठ ठाकुर, भाजपा विधायक प्रशांत ठाकुर, विधायक महेश बालदी, शेकाप विधायक बालाराम पाटिल, पूर्व विधायक मनोहर भोईर, कांग्रेस नेता महेंद्र घरत, मनसे जिलाध्यक्ष अतुल भगत के साथ ही स्थानीय ग्रामीण उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि स्थानीय किसानों को बिना बताए सिडको ने इस एयरपोर्ट का नामकरण बालासाहेब ठाकरे के नाम पर करने का निर्णय लिया है। इससे जुड़ा प्रस्ताव मंजूरी के लिए सिडको ने राज्य सरकार को भेजा है। इसके कारण स्थानीय नागरिकों में काफी आक्रोश है। विधायक प्रशांत ठाकुर ने बताया कि नवी मुंबई एयरपोर्ट को डीबी पाटिल का ही नाम मिलेगा, इस बात का विश्वास यहां के किसानों को था। इसके बावजूद कुछ दिन पहले सिडको निदेशक मंडल ने एयरपोर्ट का नामकरण बालासाहेब ठाकरे के नाम पर करने का प्रस्ताव कर दिया। इस एयरपोर्ट का नाम डीबी पाटिल के नाम पर ही होना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/ ज्योति दुबे