महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में लागू होगी स्लम पुनर्वास योजना: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में लागू होगी स्लम पुनर्वास योजना: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में लागू होगी स्लम पुनर्वास योजना: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

news

मुंबई, 31 जुलाई (हि. स.)। महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों और महानगरपालिका क्षेत्रों में स्लम पुनर्वास योजना लागू करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। यह फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में शुक्रवार को सह्याद्री गेस्ट हाउस में आयोजित की गई झोपड़पट्टी पुनर्वास प्राधिकरण की बैठक में लिया गया। बैठक में मुंबई को छोड़कर मुंबई महानगर क्षेत्र में नगर निगमों और नगर पालिकाओं के लिए एक स्वतंत्र स्लम पुनर्वास प्राधिकरण स्थापित करने का निर्णय लिया गया। झुग्गी पुनर्वास योजना और इसके लिए आवश्यक धनराशि में तेजी लाने के लिए एक स्ट्रेस फंड स्थापित करने का भी निर्णय लिया गया। इस कोष के माध्यम से, झुग्गी पुनर्वास योजनाओं में बैंकों से डेवलपर्स को ऋण उपलब्ध कराया जाएगा और इस योजना को तेजी से पूरा किया जाएगा। गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने बताया कि कानून में संसोधन जल्द से जल्द किया जाएगा, ताकि ठप पड़ी झुग्गी पुनर्वास परियोजनाओं को गति दी जा सके। साथ ही आगामी कैबिनेट की बैठक में स्ट्रेस फंड स्थापित करने का प्रस्ताव लाया जाएगा। नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि मुंबई को छोड़कर मुंबई महानगर के बाकी हिस्सों में मनपा और नगर निगमों के लिए एक अलग झुग्गी पुनर्विकास प्राधिकरण स्थापित किया जाना चाहिए। परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा कि झुग्गी पुनर्वास परियोजनाओं को लागू करते समय डेवलपर्स को रियायतें दी जानी चाहिए, लेकिन उन्हें निर्धारित समय के भीतर काम करने की भी सख्ती होनी चाहिए। बैठक में गृहनिर्माण राज्यमंत्री सतेज पाटिल, मुख्य सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार अजोय मेहता, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव विकास खारगे, मुंबई मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव एस. वी. श्रीनिवास, एसआरए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश लोखंडे आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ विनय/ राजबहादुर-hindusthansamachar.in