केंद्र से महाराष्ट्र को मिले ऑक्सीजन आपूर्ति के आंकड़े झूठे : कांग्रेस

केंद्र से महाराष्ट्र को मिले ऑक्सीजन आपूर्ति के आंकड़े झूठे : कांग्रेस
congress-gets-false-oxygen-supply-figures-from-center-congress

मुंबई, 26 अप्रैल (हि. स.)। महाराष्ट्र कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत ने केंद्र सरकार से की गई महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर भाजपा नेताओं द्वारा किए गए दावों को झूठा करार दिया है। सावंत ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष फडणवीस के उन दावों को गलत ठहराया है, जिसमें उन्होंने महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों को लगने वाले 1784 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सभी आपूर्ति केंद्र सरकार द्वारा किए जाने का दावा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार माना है। सावंत ने सोमवार को कहा कि यह फडणवीस का यह दावा झूठा है। वे झूठ बोलने का धंधा बंद कर दें। वास्तविकता में जिस सूची का फडणवीस ने हवाला दिया है, उसमें अधिकांश कंपनियां महाराष्ट्र की हैं। महाराष्ट्र सरकार ने 1250 मीट्रिक टन ऑक्सीजन राज्य की इन कंपनियों से प्राप्त किया है। यह कंपनियां महाराष्ट्र की भूमि पर कार्यरत है, इसके लिए मोदी से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है। यह क्षमता महाराष्ट्र की खुद की है। लेकिन फडणवीस ने इसका श्रेय मोदी को देकर झूठ फैलाया है। सावंत ने आगे कहा कि राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की मांग तकरीबन 1750 मीट्रिक टन से ज्यादा हो गई है। इसलिए महाराष्ट्र ने खुद की 1250 मीट्रिक टन क्षमता के अलावा केंद्र से अतिरिक्त 500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अन्य राज्यों से आपूर्ति करने की मांग की थी। केंद्र की ओर से भिलाई प्लांट से 110 मीट्रिक टन प्रतिदिन, बेलारी से 50 मीट्रिक टन प्रतिदिन, जामनगर से 125 मीट्रिक टन प्रतिदिन और वाइजॅग से 60 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की औसतन आपूर्ति की जा रही है। इसीतरह ऑक्सीजन एक्सप्रेस से एक बार 7 टैंकरों में 110 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लाई गई है। सावंत के अनुसार महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार ने 15 ते 30 अप्रैल इन 15 दिनों में कुल 25 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आवश्यकता व्यक्त की थी। यदि रोजाना 1250 मीट्रिक टन का हिसाब पकड़ा जाए तो 15 दिनों में 17500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन महाराष्ट्र की खुद की क्षमता है। केंद्र को इन 15 दिनों में 7500 मीट्रिक टन अर्थात प्रतिदिन 500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति करनी थी। लेकिन मौजूदा समय में केंद्र की ओर से केवल 345 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की ही आपूर्ति ही महाराष्ट्र को मिल रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ विनय