मध्य रेल : 12 दिनों के रिकॉर्ड समय में 120 डिब्बों को किया आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित
मध्य रेल : 12 दिनों के रिकॉर्ड समय में 120 डिब्बों को किया आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित
महाराष्ट्र

मध्य रेल : 12 दिनों के रिकॉर्ड समय में 120 डिब्बों को किया आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित

news

मुंबई, 17 जुलाई, (हि. स.)। मध्य रेल का माटुंगा कैरिज वर्कशॉप प्रारंभ से ही COVID-19 से लड़ने में अपना सक्रिय योगदान दे रहा है। 23 मार्च 2020 से शुरू होने वाले लॉकडाउन की अवधि के दौरान, माटुंगा वर्कशॉप की टीम ने 12 दिनों के रिकॉर्ड समय में 120 डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित किया है, जो किसी भी मध्य रेल इकाई द्वारा उच्चतम था। उपनगरीय क्षेत्रों में मुख्य रूप से निवास करने वाली समर्पित टीम ने प्रवेश बिंदुओं पर थर्मल स्कैनिंग, मास्क पहनने की अनिवार्य बाध्यता,सोशल डिस्टेंसिंग, कोचों के विस्थापन और कार्यस्थल पर सावधानी बरतते हुए लक्ष्य को प्राप्त करने के ईमानदारी से प्रयास किए। मध्य रेल के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस मुंबई के जनसंपर्क विभाग से जारी विज्ञप्ति के अनुसार माटूंगा कैरिज वर्कशॉप ने वर्कशॉप को वर्तमान परिस्थितियों में कार्य करने के लिए तैयार करने के लिए कई उपाय किए हैं। इसने इन हाउस फुट संचालित 25 वाश-बेसिनों 12 फुट संचालित सैनेटाइजर डिस्पेंसर यूनिट्स, 3000 हैंड सैनिटाइजर का इनडोर उत्पादन, पीपीई किटों का वितरण, मास्क, सैनिटाइजर, दस्ताने और कर्मचारियों के लिए फेस शील्ड का निर्माण किया है कारखाने के यूनियनों और एसोसिएशनो के सक्रिय सहयोग से कार्य संचालन पुनः आरंभ हुआ। वे कोविड -19 के बारे में जागरूकता फैलाने और कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। जिसके परिणामस्वरूप कारखाना ने बोगी के रिकॉर्ड 170 कोच सैट की आपूर्ति के अलावा 80 कोच और 3 ईएमयू रेक पीओएच करके निकला है। संजीव मित्तल, महाप्रबंधक, मध्य रेल ने कोरोना महामारी के दौरान वर्कशॉप के कर्मचारियों व अधिकारियों की कड़ी मेहनत और श्रेष्ठ रिकॉर्ड बनाने के लिए बधाई देकर उनकी सराहना की है। हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप/ राजबहादुर-hindusthansamachar.in